गुजरात में 9th से 12th तक के स्टूडेंट्स को ‘जय हिंद-जय भारत’ कहकर बोलनी होगी अटेंडेंस

Written by: January 1, 2019 10:04 am

नई दिल्ली। गुजरात के स्कूलों में अब छात्रों में देशभक्ति की भावना बढ़ाने के लिए नई व्यवस्था शुरू करने की तैयारी की जा रही है। रिपोर्ट्स के मुताबिक विजय रूपाणी सरकार छात्रों के उपस्थिति दर्ज कराने की प्रक्रिया में नया प्रयोग कर रही है। नई व्यवस्था के तहत कक्षाओं में उपस्थिति दर्ज कराने के दौरान छात्रों को जी सर, यस सर या ऐसे ही अन्य संबोधनों के बजाए जय हिंद या जय भारत बोलने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा।बता दें कि राजस्थान सरकार एक शिक्षक से प्रेरित होकर इस पर काम कर चुकी है। वहां कई स्कूलों में उपस्थिति के समय ‘जय हिंद, जय भारत’ ही बोला जाता है। तो वहीं गुजरात में शिक्षा मंत्री भूपेंद्र सिंह चूड़ास्मा के मुताबिक, फिलहाल इस योजना पर विचार किया जा रहा है। सरकार का मानना है, जय हिंद, जय भारत बोलने पर बच्चों में देशभक्ति की भावना बढ़ेगी।

गुजरात की विजय रूपाणी सरकार ने आज स्कूलों के लिए नया फरमान सुनाया है। राज्य में 9th से 12th तक के स्टूडेंट्स को अब ‘यस सर’ और ‘यस मैम’ की जगह जय हिंद-जय भारत कहकर अटेंडेंस बोलनी होगी। सरकार का कहना है कि इससे स्कूली छात्र और छात्राओं में देश भक्ति की भावना मजबूत होगी।

माध्यमिक और उच्चतर माध्यमिक के बच्चों को अपनी उपस्थिति जय हिंद और जय भारत करके दर्ज करानी होगी। यस सर और यस मैम से उपस्थिति दर्ज नहीं होगी। ये नोटिफिकेशन गुजरात माध्यमिक और उच्चतर माध्यमिक बोर्ड ने जारी किया है।

स्कूल प्रशासन को एक जनवरी 2019 से जय हिंद-जय भारत बोलने का आदेश दिया गया है