सामने आई वो वजह जिसके चलते केंद्र सरकार ने रॉ और आईबी प्रमुख का कार्यकाल बढ़ा दिया 6 महीनों के लिए

Avatar Written by: December 15, 2018 10:51 am

नई दिल्ली। देश के दो खुफिया एजेंसी इंटेलीजेंस ब्यूरो (आईबी) के प्रमुख राजीव जैन और रिसर्च एंड एनालिसिस विंग (रॉ) के प्रमुख अनिल के. धस्माना की सेवाओं का छह-छह महीने का विस्तार किया गया है। इन दोनों के दो साल का कार्यकाल इस महीने के अंत में खत्म हो रहा था। दरअसल मोदी सरकार अगले साल लोकसभा चुनाव से पहले दो महत्वपूर्ण खुफिया एजेंसियों के शीर्ष पदों पर नयी नियुक्ति से बचना चाहती है।

Rajiv Jain and Anil Dhasmana

राजीव जैन का कार्यकाल 30 दिसंबर को तथा धस्माना का कार्यकाल 29 दिसंबर को खत्म हो रहा था। इस संबंध में एक आधिकारिक बयान में कहा गया कि प्रधानमंत्री की अध्यक्षता वाली मंत्रिमंडल की नियुक्ति समिति (एसीसी) ने दोनों खुफिया प्रमुखों के कार्यकाल विस्तार का फैसला किया है।

विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि, दोनों खुफिया प्रमुखों के कार्यकाल विस्तार का फैसला आगामी आम चुनावों को देखते हुए किया गया है। केंद्र सरकार चाहती है कि नयी सरकार इन महत्वपूर्ण पदों के लिए फैसला ले।

Rajnath Singh And Narendra Modi

झारखंड कैडर के 1980 बैच के आईपीएस अधिकारी राजीव जैन दिसंबर 2016 में दो साल के लिए आई बी निदेशक नियुक्त किए गए थे। राजीव जैन ने 1 जनवरी, 2017 को दिनेश्वर शर्मा से आईबी के 26वें डायरेक्टर के रूप में कार्यभार संभाला था। राष्ट्रपति पुलिस पदक से समामानित राजीव जैन संवेदनशील कश्मीर डेस्क समेत आईबी के कई विभागों में रह चुके हैं। वह पिछली एनडीए सरकार में कश्मीर के नियुक्त किए गए वार्ताकार के सी पंत के सलाहकार रह चुके हैं।

Home Ministry

अनिल धस्माना 1981 बैच के मध्यप्रदेश कैडर के आईपीएस ऑफिसर हैं। धस्माना ने 31 जनवरी 2017 को रॉ के चीफ के तौर पर कार्यभार संभाला था। धस्माना पिछले 23 साल से रॉ में हैं। धस्माना को तेज तर्रार अधिकारी के रुप में जाना जाता है।

Support Newsroompost
Support Newsroompost