पीएम मोदी के इन दो फैसलों का कायल हुआ आईएमएफ

Written by: December 10, 2018 12:59 pm

नई दिल्ली। अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) के मुख्य अर्थशास्त्री मौरिस ओब्स्टफील्ड ने मोदी सरकार की आर्थिक नीतियों की तारीफ की है। इसके साथ ही उन्‍होंने सरकार के दो बड़े फैसलों का समर्थन भी किया है। ये दो बड़े फैसले हैं- गुड्स एंड सर्विसेज टैक्‍स (जीएसटी) और इन्‍सॉल्‍वेंसी एंड बैंकरप्सी कोड लॉ (आईबीसी) हैं। ओब्स्टफील्ड ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में आर्थिक मोर्चे पर भारत में कई बड़े बदलाव हुए हैं।

Narendra Modi

खासतौर पर जीएसटी और बैंकरप्सी लॉ सरकार की बड़ी आर्थिक उपलब्‍धियों में से है। इस सरकार ने जो भी फैसले लिए, वो बेहद अहम हैं। एनडीए सरकार में भारत के ग्रोथ रेट पर मौरिस ओब्स्टफील्ड ने कहा कि इन साढ़े चार सालों में ग्रोथ परफॉर्मेंस शानदार रहा। हालांकि इस साल के तीसरे क्‍वार्टर में थोड़ी सुस्‍ती आई है, लेकिन कुल मिलाकर साढ़े चार सालों में ग्रोथ रेट अच्‍छा रहा।

Maurice Obstfeld

साथ ही उन्‍होंने मोदी सरकार को बैंकिंग सिस्‍टम को बेहतर बनाने की सलाह दी। उन्‍होंने कहा कि कॉरपोरेट कर्ज सरकार को विरासत में मिली है इसलिए इससे निपटना आसान नहीं है। ओब्स्टफील्ड के मुताबिक मोदी सरकार बैंकिंग सिस्‍टम को दुरुस्‍त करने में लगी है लेकिन इस पर अधिक काम करने की जरूरत है।

International Monetary Fund

अगले साल भारत में होने वाले आम चुनावों का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि सरकार विकास की गति को बनाए रखने के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास कर रही है।