अच्छी ख़बर: रेलवे की बड़ी कामयाबी, मानवरहित रेलवे क्रॉसिंग से मुक्त हुआ देश

Avatar Written by: January 9, 2019 3:26 pm

नई दिल्ली। भारतीय रेलवे मोदी सरकार में कई कदम आगे बढ़ चुका हो, चाहे वो फिर ट्रेनों की गति की बात हो या फिर स्टेशनों की सूरत बदलने की बात। इसी बीच रेलवे ने एक और नया कारनामा कर दिखाया है। बता दें कि विश्व के सबसे बड़े रेलवे नेटवर्क में शुमार भारतीय रेल अब अनमैन्ड लेवल क्रॉसिंग यानि कि मानवरहित रेलवे क्रॉसिंग से मुक्त हो चुका है। यानि कि रेलवे की मुख्य लाइन यानी गेज पर अब एक भी रेलवे फाटक ऐसा नहीं है जो मानवरहित हो, बीते एक साल में रेलवे ने देश भर में 3500 मानवरहित रेल क्रॉसिंग को ख़त्म किया है।

कैसे किया ?

रेलवे के मुताबिक, अनमैन्ड लेवल क्रॉसिंग को हटाने के लिए मुख्य रूप से चार तरीके अपनाए हैं। सबसे पहले ऐसे फाटक बंद कर दिए गए जहां से कम गाड़ियां गुजरती थीं। इसके अलावा कई जगहों पर एक लेवल क्रॉसिंग को बंद कर के सड़क बनाकर दूसरे से जोड़ दिया गया। कई जगह सबवे, रोड या अंडर ब्रिज़ बनाए गए और मानव रहित फाटक पर गार्ड की तैनाती की गई।

सिर्फ एक जगह बची है

रेलवे के मुताबिक मुख्य लाइन यानी गेज पर अब केवल एक मानवरहित क्रासिंग उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद डिविज़न में मौजूद है जहां स्थानीय प्रशासन से इसे हटाने की प्रक्रिया पर सहमति नहीं हो पाई है, लेकिन उम्मीद है कि इसी वित्तीय वर्ष में यह काम पूरा हो जाने की उम्मीद है।

रेलमंत्री पीयूष गोयल ने साल 2018-19 के दिसंबर तर रेलवे के सारे मानवरहित क्रासिंग को ख़त्म करने का लक्ष्य रखा था ताकि ऐसे क्रासिंग्स पर हादसे को रोका जा सके। 2014 में रेलवे के ब्राड गेज पर क़रीब 5500 मानव रहित क्रॉसिंग थे।