टल गया बड़ा हादसाः महोबा में इंटरसिटी के इंजन में लगी आग, मची अफरातफरी

Written by: May 5, 2018 5:21 pm

नई दिल्ली। घुटई रेलवे स्टेशन महोबा के पास इंटरसिटी के इंजन में आग लग गई। सूचना फैलने से ट्रेन में हड़कम्प मच गया। यात्री कोच से कूद कूदकर भाग निकले। सूचना पर पुलिस, जीआरपी जवान मौके पर पहुंचे। फायर विभाग को सूचना दी गई। मौके पर दमकल की दो गाड़ियां पहुंची और आग पर काबू पा लिया। एहतियात के तौर पर ट्रेन लगभग ढाई घंटे बाद रवाना किया गया।Fire in intercity Train Mahoba UP

खजुराहो से चलकर उदयपुर तक जाने वाली इंटरसिटी ट्रेन शनिवार सुबह लगभग 11 बजे महोबा से निकली। 11:30 बजे ट्रेन महोबा के पास घुटई स्टेशन पर पहुंची। यहां से ट्रेन रवाना हुई थी कि थोड़ी दूरी पर ट्रेन के इंजन में आग लग गई।

सूचना ट्रेन में सवार यात्रियों तक पहुंची जिससे हड़कम्प मच गया। ट्रेन को चेन पुलिंग कर रोका गया और यात्री कोच से कूद कूदकर दूर भागकर खड़े हो गए। ट्रेन चालक समेत अन्य लोगों ने यूपी 100 पर सूचना दी। मौके पर पुलिस समेत जीआरपी के जवान पहुंचे साथ ही दमकल की दो गाड़ियां पहुंच गई।Fire in intercity Train Mahoba UP

फायर सर्विस के जवानों ने आग पर काबू पा लिया। आग लगने का कारण स्पष्ट नहीं हो सका है। पुलिस के मुताबिक सम्भवत वायरिंग में कोई समस्या आने से घटना हुई है। अहतियात के तौर पर इंटरसिटी को लगभग ढाई घंटे रोककर रखा गया और दोपहर 2 बजे वह घुटई से रवाना की गई।

घटनास्थल पर पहुंचे उच्चाधिकारी

ट्रेन में लगी आग के कारण झांसी-मानिकपुर रेल मार्ग अभी पूरी तरह ठप्प हो गई। हालांकि आग कितने डिब्बों में लगी है और आग लगने की वजह क्या है इसका कारण अभी पता नहीं चला है। इंजन और इंजन के पास वाले डिब्बे की आग बुझाई जा चुकी है। रेलवे पुलिस घटना के कारण पता करने में जुटी है।Fire in intercity Train Mahoba UP

मौके पर ही रुकी रही ट्रेन

जानकारी के मुताबिक खजुराहो से उदयपुर जा रही इंटरसिटी एक्सप्रेस के इंजन में तब आग लग गई जब ट्रेन हरपालपुर रेलवे स्टेशन से दो किलोमीटर दूर बड़ेरा गांव के पास पहुंची थी। इंजन में लगी आग को देखकर पूरे स्टाफ के साथ-साथ पूरे यात्रियों में हड़कंप मच गया। स्टाफ को जैसे ही आग लगने के बारे में पता चला ट्रेन को वहीं रोक दिया गया। ट्रेन में लगी आग की जानकारी रेलवे के उच्चाधिकारियों समेत हरपालपुर रेलवे स्टेशन को दी गई। जिसके बाद इंजन में पानी डालकर आग बुझाई गई। इसके बाद करीब दो घंटे तक ट्रेन मौके पर ही रुकी रही।