ISIS मॉड्यूलः UP और पंजाब के 7 ठिकानों पर NIA की छापेमारी, 3 संदिग्ध हिरासत में

Written by: January 17, 2019 2:48 pm

नई दिल्ली। मेरठ आईएसआईएस मॉड्यूल के खुलासे मामले में नेशनल इनवेस्टिगेशन टीम ने एक बार फिर ताबड़तोड़ छापेमारी की है। ये छापेमारी पंजाब और वेस्टर्न यूपी के सात ठिकानों पर की गई है। एनआईए की टीम यूपी के अमरोहा और हापुड़ सहित अन्य जगहों पर पहुंची और यहां छापेमारी की। इस दौरान हापुड़ जनपद के दो गांव अठसैनी व बदरखा में छापेमारी कर तीन संदिग्ध लोगों को हिरासत में लिया गया। इन तीनों से पूछताछ की जा रही है।

पुलिस अधीक्षक संकल्प शर्मा ने बताया कि एनआईए की टीम संदिग्धों की धरपकड़ कर रही है। गुरुवार तड़के एनआईए की टीम ने गांव बदरखा और अठसैनी में छापेमारी की। हिरासत में लिए गए तीन लोगों से कोतवाली गढ़ में पूछताछ की जा रही है। स्थानीय पुलिस एनआईए की टीम का पूरा सहयोग कर रही है।

जानकारी के लिए बता दें कि 26 दिसंबर को एनआईए ने आईएसआईएस मॉड्यूल ‘हरकत उल हर्ब ए इस्लाम’ का खुलासा किया था। इस सिलसिले में उत्तर प्रदेश और नई दिल्ली समेत 16 जगहों पर छापेमारी की गई थी। साथ ही 10 लोगों को हिरासत में लिया गया था, जिसमें से पांच को पश्चिमी उत्तर प्रदेश के अमरोहा जिले के रहने वाले थे। इस खुलासे के बाद एनआईए की टीम लखनऊ भी पहुंची थी और यहां से भी एक मां-बेटे को हिरासत में लिया था।

एक गांव में 26 दिसंबर के बाद से 6 बार छापे

‘हरकत उल हर्ब ए इस्लाम’ के खुलासे के बाद हिरासत में लिए गए लोगों ने पूछताछ में कई लोगों के नाम लिए। इसके बाद एनआईए ने एक के बाद एक ताबड़तोड़ कई छापे मारे। मेरठ के एक गांव में तो एनआईए तब से छह बार छापेमारी कर चुकी है।


‘किताब और चिप के बारे में पूछा’

शहजाद ने बताया कि एनआईए के साथ मेरठ के जसौरी गांव निवासी मौलाना अफसार भी था। टीम ने सिर्फ इतना ही पूछा कि उर्दू, अरबी की किताबें व चिप कहां से आई। उसने बताया कि ये चीजें कुछ समय पहले मौलाना अफसार ने रखने के लिए दी थीं। उसे नहीं पता चिप और किताब में क्या है। इसके बाद टीम ने छानबीन करने के बाद क्लीन चिट दे दी।