सिंहासन के लिए बेताब हैं कमलनाथ, फिर आया विवादित वीडियो, मुस्लिमों को पढ़ा रहे पाठ…

Avatar Written by: November 21, 2018 3:13 pm

नई दिल्ली। मध्य प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ के लगातार विवादित वीडियो सामने आ रहे हैं, कभी वो आरएसएस से निपटने की बात करते हैं, तो कभी मुस्लिम मतदाताओं को लेकर खासे चिंतित दिखते हैं, सीधे तौर पर कहा जाए तो इससे पार्टी की छटपटाहट साफ दिखती है, कि सत्ता पाने को वो कितने बेताब हैं। अब इस नए वीडियो से फिर बवाल मचना तय माना जा रहा है।इस वीडियो में कमलनाथ को यह कहते हुए देखा और सुना जा सकता है कि मुस्लिम कांग्रेस पार्टी के ‘वोट बैंक’ है। कमलनाथ अपनी बैठक में शामिल लोगों को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के कार्यकर्ताओं से आगाह रहने के लिए भी कहते हैं। कमलनाथ ने अपनी पार्टी के लोगों से कहा कि पिछले चुनाव में मुस्लिम बहुल इलाकों में 90 प्रतिशत मतदान क्यों नहीं हुआ, इसकी वे जांच करें।

RSS Vijayadashami Utsav

कांग्रेस नेता ने विधानसभा चुनाव में आरएसएस के नारे का भी जिक्र किया है। कमलनाथ मुस्लिमों पर अपने इस बयान के बाद भारतीय जनता पार्टी के निशाने पर आ गए हैं। इसके पहले आरएसएस के बारे में कमलनाथ का दिया गया एक बयान सोशल मीडिया में वायरल हुआ था। कमलनाथ ने अपने इस बयान में आरएसएस के बारे में आपत्तिजनक बातें कही थीं जिसके बाद भाजपा ने उन पर पलटवार किया।


वीडियो में लोगों से कमलनाथ कह रहे हैं, ‘मेरी आपसे विनती ये है कि आप पिछला रिकॉर्ड देख लीजिए। आरएसएस के वोटर्स क्या कर रहे हैं और उसके कार्यकर्ता क्या कह रहे हैं। आरएसएस ने अपने लोगों को फैलाया हुआ है। इनके बारे में आप लोग मुझे जानकारी दीजिए। छिंदवाड़ा की बात करूं तो यहां लोग मुझे आकर बता देते हैं। उनका एक ही स्लोगन है। अगर हिंदू को वोट देना है तो हिंदू शेर मोदी को वोट दो। अगर मुसलमान को वोट देना है तो कांग्रेस को वोट दो। केवल दो लाइन। वे कोई और पाठ पढ़ाने नहीं जाते।’Rahul Gandhi Kamalnathकांग्रेस नेता आगे कहते हैं, ‘ये इनकी रणनीति है और इसमें आप सब को बहुत सतर्क रहना पड़ेगा। आप से विनती है कि आप पिछला रिकॉर्ड देख लीजिए। ये सब आज इंटरनेट पर है। जहां मुसलमान वोट है वहां कितने प्रतिशत मतदान हुआ और वहां 50-60 प्रतिशत मतदान यदि हुआ तो वहां 90 प्रतिशत वोटिंग क्यों नहीं हुई। पिछले चुनाव का पोस्टमार्टम करना बहुत जरूरी है। मुसलमान समाज के यदि 90 प्रतिशत वोट नहीं पड़े तो हमें बहुत बड़ा नुकसान हो सकता है।