मेहुल चौकसी ने किया खुलासा, इस वजह से ली एंटीगुआ की नागरिकता

Avatar Written by: July 27, 2018 4:56 pm

नई दिल्ली। पंजाब नेशनल बैंक के दो अरब डॉलर की धोखाधड़ी के मामले में फरार चल रहे हीरा व्यापारी मेहुल चौकसी फिलहाल एंटीगुआ में है। और उसे वहां की नागरिकता भी मिल गई है। मेहुल की नागरिकता और कई देशों में ट्रैवल करने को लेकर विवाद हो रहा है। जिसके बाद अब खुद मेहुल चौकसी ने इस विवाद पर चुप्पी तोड़ी है। चौकसी ने अपने बयान में कहा है कि एंटीगुआ के पासपोर्ट पर वो 132 देशों में बिना वीजा के घूम सकता है। साथ ही उसने एंटीगुआ की नागरिकता अपने व्यापार को बढ़ाने के लिए लिया है।

Gitanjali group owner Mehul Choksi

एंटीगुआ की स्थानीय अखबार ‘डेली ऑबजर्वर’ की खबर के मुताबिक, चौकसी का ये बयान उसके वकील डेविड डोरसेट ने जारी किया है। साथ ये भी कहा है कि भारतीय जांच एजेंसी और मीडिया की ओर से लगाए जा रहे आरोपों में सच्चाई नहीं है। मेहुल के एंटीगुआ में होने की खबर बाहर आने के बाद केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने गीतांजलि जेम्स के मालिक मेहुल चौकसी के संबध में एंटीगुआ के अधिकारियों को पत्र लिखा है। सीबीआई ने ये पत्र इंटरपोल के अधिकारियों द्वारा एंटीगुआ में मेहुल के नए ठिकाना का जिक्र करने के बाद लिखा है।

Mehul Choksi दरअसल, हाल ही में पंजाब नैशनल बैंक से लगभग 13 हजार करोड़ रुपये के घोटाले के आरोपी और गीतांजलि जेम्स के प्रमोटर मेहुल चौकसी के अमेरिका से एंटीगुआ भागने की खबर आई थी। इंटरपोल द्वारा जारी नोटिस के बाद एंटीगुआ के अधिकारियों ने इस बात की जानकारी दी थी। सीबीआई ने एंटीगुआ के अधिकारियों को पत्र लिखकर भगोड़े हीरा व्यवसायी मेहुल चौकसी के ठिकाने के बारे में जानकारी मांगी है।

Mehul Choksi

उन्होंने कहा कि पिछली शाम सीबीआई की तरफ से एंटीगुआ के अधिकारियों को भेजे गए पत्र में भगोड़े व्यवसायी के खिलाफ इंटरपोल की तरफ से जारी नोटिस का हवाला दिया गया और उसकी आवाजाही, वर्तमान ठिकाने का ब्यौरा मांगा। मेहलु चौकसी नीरव मोदी का मामा है और अपराध में कथित तौर पर उसका भागीदार है। स्थानीय अखबार एंटीगुआ ऑब्जर्वर के मुताबिक चौकसी ने नवम्बर 2017 में एंटीगुआ की नागरिकता हासिल कर ली थी और इस साल 15 जनवरी को उसने निष्ठा की शपथ ली थी।