राहुल गांधी का बड़ा फैसला, मोहम्मद अजहरुद्दीन को बनाया तेलंगाना कांग्रेस कमिटी का कार्यकारी अध्यक्ष

Written by: November 30, 2018 4:53 pm

नई दिल्ली।  कांग्रेस ने शुक्रवार को पूर्व भारतीय क्रिकेट कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन को पार्टी के तेलंगाना इकाई का कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त किया। इस प्रयास को पूर्व सांसद को शांत करने वाला करार दिया जा रहा है। ऐसा माना जा रहा था कि पार्टी में अपने साथ हो रहे व्यवहार से वह नाखुश थे।

तेलंगाना में 7 दिसंबर को चुनाव होने हैं और कांग्रेस इस दक्षिण भारतीय राज्य में जीतने के लिए हर उठा-पटक में लगी हुई है। कांग्रेस ने वहां तेलुगू देशम पार्टी (टीडीपी), सीपीआई (एम) और तेलंगाना जन समिति (टीजेएस) के साथ महागठबंधन किया है।

ऐसे में तेलंगाना में सक्रिय दिखने के लिए कांग्रेस राज्य इकाई में जान फूंकने का प्रयास कर रही है। इसमें अजहरुद्दीन की भूमिका काफी महत्वपूर्ण होगी। इसके अलावा संदीप दीक्षित को ऑल इंडिया कांग्रेस कमिटी का सचिव बनाया गया है।

 बता दें कि तेलंगाना अजहरुद्दीन का गृह राज्य भी है और वह 2019 का चुनाव गृह प्रदेश तेलंगाना से लड़ने की इच्छा जता चुके हैं। तेलंगाना में 2014 को हुए विधानसभा चुनाव में सत्ताधारी टीआरएस को 34.3 फीसदी वोट मिले थे जबकि कांग्रेस यहां 25.2 फीसदी वोट के साथ दूसरे नंबर पर रही। इस बार तेलंगाना में 7 दिसंबर को चुनाव है।

तेलंगाना विधानसभा ने अल्‍पसंख्‍यकों के लिए 12 फीसद आरक्षण किए जाने को लेकर एक विधेयक को पिछले वर्ष पारित किया था। हालांकि केंद्र सरकार ने इसे मंजूरी नहीं दी थी। इसे लेकर विपक्षी दल तेलंगाना के कार्यवाहक मुख्‍यमंत्री के. चंद्रशेखर राव(केसीआर) पर लगातार हमला कर रहे हैं। अल्‍पसंख्‍यकों को आरक्षण अब तेलंगाना में राजनीतिक मुद्दा बन गया है।

अब केसीआर तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) को हराने के लिए कांग्रेस अल्पसंख्यकों को अपने पाले में करने की रणनीति पर काम कर रही है। कांग्रेस ने इसीलिए मस्जिदों और चर्च को मुफ्त बिजली, इमाम और पादरियों को हर महीने तनख्वाह देने सहित कई लुभाने वादे किए हैं। इसी के साथ जमीनी रूप से ताकत बढ़ाने के लिए राहुल गांधी ने अपनी टीम में परिवर्तन किया है। इसलिए मोहम्मद अजहरुद्दीन को राहुल गांधी ने तेलंगाना का कार्यकारी अध्यक्ष बनाया है।