तो क्या बोलने की शक्ति खो देंगे नवजोत सिंह सिद्धू !

Written by Newsroom Staff December 6, 2018 4:36 pm

नई दिल्ली। अपने भाषण देने की कला के लिए मशहूर पंजाब सरकार में मंत्री और कांग्रेस के स्टार प्रचारक नवजोत सिंह सिद्धू का गला खराब हो गया है।  राज्‍य के कई जिले में कांग्रेस का चुनाव प्रचार करते-करते अपनी आवाज खोने की कगार पर पहुंच गए हैं। डॉक्टरों ने उन्हें अब ना बोलने की सलाह दी है। सिद्धू को सलाह दी गई है कि वह अगले 4-5 दिन पूरी तरह से आराम करें। बताया जाता है कि डॉक्‍टरों ने कहा है कि अब यदि अधिक बोला तो उनकी आवाज जा सकती है।

बता दें कि पांच राज्य में हुए विधानसभा चुनाव के दौरान नवजोत सिंह सिद्धू ने कुल 70 रैलियों को संबोधित किया है। सिद्धू ने इन रैलियों को मात्र 17 दिनों में संबोधित किया। जिसके कारण उनके गले में दिक्कत हो गई और अब डॉक्टरों ने उन्हें आराम की सलाह दी है।

Navjot Singh Sidhu

गौरतलब है कि पहले करतारपुर कॉरिडोर और फिर रैलियों में लगातार विवादित भाषणों से सिद्धू चर्चा में बने रहे। डॉक्टरों ने सिद्धू से कहा कि वह अपनी आवाज खोने की कगार पर थे। डॉक्टरों के अनुसार, लगातार हेलिकॉप्टर यात्रा करने की वजह से उनके स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ा. सिद्धू पहले से ही एंबोलिज्म का इलाज करवा रहे हैं।

आपको बता दें कि पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव के दौरान नवजोत सिंह सिद्धू की काफी डिमांड रही।कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के बाद सिद्धू की ही सबसे ज्यादा डिमांड रही।

डॉक्‍टरों के अनुसार, सिद्धू को लिरिंगजाइटिस (गले की बीमारी, वोकल कार्ट) नामक बीमारी हो गई है। इसे लेकर उन्हें पांच दिनों तक एकदम चुप रहने की सलाह डाक्टरों ने दी है।

इस कारण होती है यह बीमारी

चिकित्‍सा विशेषज्ञ इसे इस रूप में देखते हैं जब शरीर उत्साह से भरा हो और दिमाग तथा शरीर लगातार तेज बोलने को लेकर प्रेरित कर रहा हो और गला आपका साथ न दे तो इसे लिरिंगजाइटिस की बीमारी कहते हैं। यानी शरीब व दिमाग नहीं थका लेकिन गला थक गया। दोनों से बीच तालमेल खराब होने से यह बीमारी होती है।

Facebook Comments