तीखा हमला: पीएम मोदी ने कांग्रेस को दिया फ्यूज पार्टी का नाम, ये था कारण

Avatar Written by: November 19, 2018 11:20 am

नई दिल्ली। मध्य प्रदेश के चुनाव अभियान को धार देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर इंदौर की रैली में जमकर तंज कसे। पीएम मोदी ने कहा कि राहुल गांधी को उनकी कांग्रेस पार्टी ही गंभीरता से नहीं लेती है तो फिर जनता कैसे लेगी। उन्होंने कहा, ‘वह जहां जाते थे, जेब से मोबाइल निकालते थे। कहते थे मेड इन छिंदवाड़ा बनेगा, मेड इन इंदौर बनेगा। लेकिन, उनकी यह बात पार्टी के मेनिफेस्टो में नहीं है, जिस नेता को उनकी पार्टी ही सीरियसली नहीं लेती है, उसे सीरियस लेना चाहिए क्या? मुझे यकीन है कि उसे देश की जनता सीरियसली नहीं लेती।’

पीएम मोदी यही नहीं रुके। राहुल पर तीखे तंज करते हुए उन्होंने कहा, ‘ऐसा लीडर जिससे कोई पूछे कि आप एनसीसी के बारे में क्या कहते हैं तो उन्हें पता नहीं है। कैलाश मानसरोवर होकर आए तो किसी ने पूछा तो कुछ बोल नहीं पाए। किसी ने पूछा कि घोषणापत्र क्या होता है तो बोले घोषणापत्र, घोषणापत्र होता है। ऐसे ही कोई नया महात्मा बना था तो उससे पूछा गया कि संस्कृति क्या होती है तो बोले कि संस्कृति संस्कृति होती है।’

पीएम मोदी ने राहुल गांधी के मध्य प्रदेश में मोबाइल फैक्ट्रियां खुलवाने के बयान पर कहा, मैडम की जब रिमोट कंट्रोल सरकार थी तो देश में दो मोबाइल फैक्ट्री थीं, लेकिन चायवाले की सरकार में सवा सौ फैक्ट्री हो गईं। जब उन्हें यह पता चला तो मोबाइल जेब में रख लिया।

pm narendra modi

ईज ऑफ डूइंज बिजनस की रैंकिंग में भारत की छलांग का श्रेय लेते हुए पीएम मोदी ने कहा, ‘2014 में हम आए तो भारत ईज ऑफ डूइंग बिजनस में 142वें नंबर पर थे, अब हम 77 पर जा खड़े हुए हैं। इसका अर्थ होता है कानून और व्यवस्था में कठिनाइयों को दूर करना। यह काम हमने 4 साल में करके दिखाया है। तब दुनिया मानने लगी है।’

दिग्विजय भी बने टारगेट

इस दौरान पीएम मोदी ने प्रदेश के पूर्व सीएम दिग्गी राजा पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि प्रदेश की जनता को अपके चेहरे से कोई शिकायत नहीं है, लेकिन कांग्रेस को डर है कि अगर दिग्गी क्षेत्र में गए तो जनता को 15 साल पहले का शासन याद आ जाएगा, कि उस दौरान प्रदेश के क्या हालात थे, बिजली थी कि नहीं, गड्ढे थे कि नहीं।