स्वतंत्रता दिवस पर राष्ट्रीय गान के गायन को रोकने के लिए इस मदरसा के साथ अब योगी सरकार ने क्या किया देख लीजिये…

Written by: August 22, 2018 1:02 pm

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश के महाराजगंज जिले में एक मदरसे में छात्रों को राष्ट्रगान गाने से रोकने पर योगी सरकार ने बड़ा एक्शन लिया है। स्वतंत्रता दिवस पर राष्ट्रगान गाने से मना करने वाले मौलवियों पर कार्रवाई के बाद अब मदरसे की मान्यता रद्द कर दी गई है। योगी सरकार ने माममले में संज्ञान लेते हुए मान्यता रद्द करने का फैसला लिया है। इससे मामले सामने आने के बाद स्कूल के तीन लोगों के खिलाफ देशद्रोह का केस दर्ज कर लिया था।

CM Yogi Adityanath,

इस मामले में मदरसा के प्रधानाचार्य मौलाना फजलुर रहमान को गिरफ्तार कर लिया गया है, जबकि प्रबंधन समिति के उन सदस्यों और शिक्षकों के खिलाफ कार्रवाई शुरू की गई है, जिन्होंने राज्य सरकार के आदेशों का उल्लंघन किया था। इस बीच, उत्तर प्रदेश मदरसा शिक्षा परिषद ने तत्काल प्रभाव से मदरसा की संबद्धता और पंजीकरण को रद्द कर दिया है।

Maharajganj

उत्तर प्रदेश अल्पसंख्यक मामलों के राज्य मंत्री मोहसिन रजा की जांच में मदरसे में गड़बड़ियां पाई गई हैं। 15 अगस्त को राष्ट्रगान नहीं गाए दिए जाने के आरोप को भी सही पाया गया। इस मदरसे के संचालक जुनैद अंसारी सहित तीन लोग राष्ट्रगान के अपमान के आरोप में जेल में हैं।

दरअसल, महाराजगंज के कोल्हुई थाना क्षेत्र के एक मदरसे में स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर सुबह तिरंगा तो फहराया गया, लेकिन ध्वजारोहण के तुरंत बाद होने वाले राष्ट्रगान को रोक दिया गया। इस राष्ट्रगान को किसी और ने नहीं बल्कि उसी मदरसे के एक मौलाना ने रोक दिया।Maharajganj

हालांकि वहां मौजूद शिक्षक राष्ट्रगान गाने के लिए जोर देते रहे, लेकिन इस तथाकथित मौलाना ने इस्लाम और मुस्लमान की दुहाई देते हुए न सिर्फ जबरन राष्ट्रगान गाने से रोका बल्कि बच्चों को भी वहां से हटाने पर उतारू हो गया।