ढींग एक्सप्रेस के नाम से विख्यात हिमा दास का यह रूप आपने नहीं देखा होगा (वीडियो)

Written by: September 16, 2018 5:23 pm

गुवाहाटी। ढींग एक्सप्रेस के नाम से दुनियाभर में विख्यात असम की 18 वर्षीय धाविका हिमा दास इंडोनेशिया में आयोजित 18वें एशियाई खेलों में धमाकेदार प्रदर्शन करने के अपने गृह राज्य असम पहुंचीं तो उनका जोरदार स्वागत हुआ। गुवाहाटी एयरपोर्ट पर उन्हें रेड कारपेट वेलकम दिया गया। यह रेड कारपेट भी कोई ऐसा वैसा नहीं था इसे हिमा के स्वागत के लिए रनिंग ट्रैक का रूप दिया गया था। हिमा का स्वागत करने के लिए हवाई अड्डे पर असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल और उनकी कैबिनेट के कई मंत्री पहुंचे थे। इन विशिष्ट लोगों के अलावा उनके स्वागत के लिए धाविका के किसान माता पिता रोंजित और जोनाली दास भी मौजूद थे।   Hima Das

इसके बाद घर पहुंचने पर गांव वालों ने भी हिमा का जमकर स्वागत किया। इस मौके पर हिमा असमिया भाषा में गीत गाती और वाद्य यंत्र बजाती नजर आईं। हिमा का यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है जिसमें वह अपने गांव के लोगों के साथ झूमती गाती नजर आ रही हैं।

कुछ महीने पहले आईएएएफ विश्व अंडर-20 एथलेटिक्स चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीतने के बाद रातोंरात भारत में स्टार बनने वाली हिमा ने जकार्ता-पालेमबांद एशियाई खेलों में बड़ी आशाओं के साथ पहुंचीं थीं। उन्होंने इन खेलों में एक स्वर्ण और एक रजत सहित दो पदक हासिल किए।Hima Das

महिलाओं की 400 मीटर फर्राटा स्पर्धा में 50.59 सेकेंड का समय निकालते हुए उन्होंन रजत पदक हासिल किया। इसके बाद महिलाओं की 200मीटर फर्राटा दौड़ में फाउल स्टार्ट की वजह से उन्हें बाहर का रास्ता दिखा दिया गया था।Hima Das इस अपसेट के बाद हिमा निराश नहीं हुईं और उन्होंने 4 गुणा 400 मीटर मिक्स्ड रिले और महिलाओं की 4 गुणा 400 मीटर रिले स्पर्धा में रजत और स्वर्ण पदक हासिल किया। इस तरह वो 1 स्वर्ण और 2 रजत पदक से साथ देश लौंटीं।Hima Das

एयरपोर्ट से हिमा को खुली छत वाली कार में एयरपोर्ट से गुवाहाटी के इंदिरा गांधी एथलेटिक्स स्टेडियम पहुंचीं। जहां उन्होंने सबसे पहल उस ट्रैक का नमन किया जहां उन्होंने अपने करियर का आगाज किया था। Hima Dasहिमा ने इतने शानदार स्वागत के लिए लोगों का आभार व्यक्त किया और कहा, मैं हर किसी को उनके सपोर्ट और आशीर्वाद के लिए शुक्रिया कहना चाहूंगी।