लाइफस्टाइल

कोरोना वायरस को लेकर सुर्खियों में चल रहे आयुष क्वाथ का इंतजार अब खत्म हो गया है। यह इम्युनिटी बूस्टर पहली बार सबसे छोटे रूप सैशे यानी छोटे पाउच में पेश किया गया है जिससे हर तबके के लोग इसका आसानी से इस्तेमाल कर सकें। इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए आयुष क्वाथ को आयुष मंत्रालय के साथ ही आयुर्वेदिक चिकित्सकों ने कारगर उपाय बताया है।

विश्व पर्यावरण दिवस हर साल 5 जून को मनाया जाता है। इसका मकसद लोगों को पर्यावरण की सुरक्षा के प्रति जागरूक और सचेत करना है। प्रकृति हमारे जीवन का जरूरी हिस्सा है, बिना प्रकृति के मानव जीवन संभव नहीं है। इसलिए यह जरूरी हो जाता है कि हम यह समझें कि हमारे लिए पेड़-पौधे, जंगल, नदियां, झीलें, जमीन, पहाड़ कितने जरूरी हैं।

संयुक्त राष्ट्र महासभा की घोषणा के अनुसार साइकिल की विशेषता और बहुमुखी प्रतिभा को पहचानने के लिए 3 जून को अंतर्राष्ट्रीय विश्व साइकिल दिवस मनाया जा रहा है। कहा गया है कि शहरवासी अपने आसपास की दूरी तय करने के लिए साइकिल का इस्तेमाल करें, तो इससे प्रतिदिन सैकड़ों लीटर पेट्रोल की खपत कम होगी। वहीं शहर का प्रदूषण स्तर भी कम होगा।

आज निर्जला एकादशी है। ज्येष्ठ शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि को निर्जला एकादशी कहा जाता है । साल की सभी चौबीस एकादशियों में निर्जला एकादशी सबसे अधिक महत्वपूर्ण मानी जाती है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने वर्ष 2020 में वर्ल्ड नो टोबेको डे (विश्व तंबाकू निषेध दिवस) की थीम 'युवाओं को तंबाकू इंडस्ट्री के हथकंडे से बचाना और उन्हें तंबाकू और निकोटिन के इस्तेमाल से रोकना" रखा है। इस दौरान युवा वर्ग को किसी भी तरह के तम्बाकू का उपयोग करने से हतोत्साहित करने के लिए जागरूकता कार्यक्रम पर जोर दिया जाएगा।

। सैनिटरी पैड ज्यादातर प्लास्टिक के बने होते हैं और इनमें सेल्यूलोज गम के साथ-साथ शोषक तत्व भी होते हैं, जो किसी तरल पदार्थ को जेल में बदल देते हैं। इस तरह की चीजों से तैयार होने वाले सैनिटरी नैपकिन पर्यावरण के लिए बेहद हानिकारक होते हैं, क्योंकि इनमें उचित निपटान प्रणालियों की पर्याप्त कमी होती है।

ईद-उल-फितर का त्योहार रमजान के महीने के पूरा होने पर 30 रोजे रखने के बाद चांद देखकर मनाया जाता है। दुनियाभर में मुस्लिम इस त्योहार को पूरे जोश और उल्लास के साथ मनाते हैं।

कोरोनावायरस से संक्रमित हुए रोगियों को एक सूजन संबंधी थायरॉयड बीमारी 'सबस्यूट थायरॉयडिटिस' हो सकती है। एक नए शोध में यह बात सामने आई है। शोधकर्ताओं ने बताया कि सबस्यूट थायरॉयडिटिस एक सूजन थायरॉयड रोग है।

फेस मास्क अब पूरे देश ही नहीं पूरी दुनिया के लोगों के चेहरे पर दिखनी लगी है। कारण साफ है कोरोना के कहर से पूरी दुनिया त्रस्त है अपने को सुरक्षित रखने के लिए अब आदमी को हर वक्त मास्क पहनना अनिवार्य हो गया है।