लाइफस्टाइल

बचपन में होने वाली बीमारियों में कैंसर मौत के सबसे बड़े कारण के रूप में उभरा है। हर साल, नवजात से लेकर 18 साल तक के बच्चे बड़ी संख्या में कैंसर के शिकार हो रहे हैं।

हाल ही में हुए एक शोध में शोधकर्ताओं ने पाया कि गर्भावस्था के शुरुआती चरण में धूम्रपान करने से शिशुओं की हड्डियों में फै्रक्चर होने का खतरा कुछ हद तक बढ़ जाता है। ऐसे कई सारे शोध हुए हैं, जिनमें पाया गया है कि गर्भावस्था के दौरान धूम्रपान और शिशुओं की वृद्धि में आने वाली समस्याओं का एक सीधा संबंध है

चीन के कोरोनावायरस की पहचान व रोकथाम में थर्मल स्कैनर काफी उपयोगी साबित हुआ है। यह एक ऐसा उपकरण है, जिसके माध्यम से कोरोनावायरस या फिर ऐसे ही किसी अन्य रोग से ग्रस्त व्यक्ति की पहचान की जा सकती है।

आपकी त्वचा को हर रोज मॉश्च्यूराइजेशन की आवश्यकता पड़ती है। नहाने के तुंरत बाद मॉश्च्यूराइजर अप्लाई करने और नहाने के काफी समय बाद भी इसे न लगाने का प्रभाव आपकी त्वचा पर बिल्कुल पड़ता है।

यूं तो ताजे फलों के जूस को सेहत के लिए बहुत हेल्दी माना जाता है। लेकिन बीते कुछ वर्षों में जूस में मौजूद चीनी की अधिक मात्रा के चलते लोगों को कई बार सचेत भी किया गया है।

वीडियो गेम्स को लेकर 71 प्रतिशत अभिभावकों को लगता है कि यह उनके बच्चों के लिए अच्छे हैं। इससे उनपर सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा, जबकि 44 प्रतिशत ने माना कि उन्होंने वीडियो गेम सामग्री को प्रतिबंधित करने का प्रयास किया है। एक नेट के शोध में यह जानकारी सामने आई है।

शिमला मिर्च शुगर के मरीजों के लिए भी काफी फायदेमंद होती है। इसके सेवन से डायबिटीज में राहत मिलती है और शरीर में ब्‍लड सुगर के स्तर को संतुलन में रखती है।

आजकल व्यस्त भरी जिंदगी में पति-पत्नी एक दूसरे के लिए वक्त नहीं निकाल पाते हैं। दोनों का वक्त बस दफ्तर की जि़म्मेदारियां पूरी करने में निकल जाता है या फिर मेहमानों की आवभगत में और ऐसे में एक-दूसरे के लिए वक्त न निकाल पाना कामकाजी पति-पत्नी के बीच हमेशा एक बड़ी समस्या रही है।

उचित नींद के महत्व को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है। सोने के अभाव विश्व भर में औद्योगिक और सड़क दुर्घटनाओं दोनों के प्रमुख कारणों में से एक है।