‘लिट्टी चोखा और संवाद कार्यक्रम’ के जरिए बैठेगी अपनों की चौपाल, 13 जनवरी को तैयार रहिएगा

Written by Newsroom Staff January 4, 2019 11:02 am

नई दिल्ली। कहीं बाटी-चोखा तो कहीं दाल बाटी ऐसे और भी नाम है जिसके जरिए आप लिट्टी-चोखा का बड़े मजे से स्वाद चखते हैं। वैसे यह सिर्फ स्वाद का सहारा नहीं है बल्कि सामाजिक समरसता बनाने का भी एक माध्यम है। इसी माध्यम को बड़ा रूप देने के मकसद से पिछले दो सालों से ‘लिट्टी चोखा और संवाद कार्यक्रम’ का आयोजन किया जाता है। इस बार भी ‘लिट्टी चोखा और संवाद कार्यक्रम’ को आयोजन 13 जनवरी, मतलब मकर संक्रांति से एक दिन पहले किया गया है।

लिट्टी-चोखा समाज को जोड़ने का काम करता है

लिट्टी चोखा दुनिया का एकमात्र ऐसा व्यंजन है, जिसे पूरा समाज साथ में बनाता है और साथ में खाता है, इससे आपसी मेस बढ़ता है। उदाहरण के लिए कोई सत्तु का मसाला बनाने में माहिर है तो कोई आटा गुंथने में। इतना ही नहीं कोई गोयठा में आग सुलगाने में माहिर है तो कोई चोखा बनाने में। कहने का मतलब है कि लिट्टी-चोखा समाज को जोड़ने का काम करता है।

एक दिन सुकून के साथ

‘लिट्टी चोखा और संवाद कार्यक्रम’ कार्यक्रम के माध्यम से कई ज़िंदगियों के चेहरे पर खुशियां लाने का काम किया गया है। इसी बहाने व्यस्त जिंदगी में लोगों की दोस्त-यारों से मुलाक़ात भी हो जाती है। सोचिए, दिल्ली जैसी जगह में हम इतने व्यस्त हो गए हैं कि हमें खाने का समय नहीं मिलता है, फेसबुक और सोशल मीडिया पर दोस्त तो हैं, मगर मिलने में सालों लग जाते हैं। एक चीज़ और है कि बड़े व फाइव स्टार होटल में आपको बेहतरीन खाना मिलेगा खाने को, मगर प्यार, सुकून और लंबी बातचीत मिलना मुश्किल है।

पिछले दो साल से यमुना नदी के किनारे जंगल में होने वाला ये कार्यक्रम इस बार इंदिरा गांधी नेशनल सेंटर फॉर आर्ट्स में होगा।

कार्यक्रम स्थान का पता

Indira Gandhi National Centre for the Arts, 11, Man Singh Rd, Near Andhra Bhavan, Rajpath Area, Central Secretariat, New Delhi, Delhi 110011

कार्यक्रम की विशेषताएं

खान-पान के अलावा कार्यक्रम में आपको ऐसे लोगों से मिलवाया जाएगा जो गुमनामी में रहकर समाज में अपनी पहचान बनाए हुए हैं
हमेशा की तरह इस बार गांव के बच्चों का कॉम्पीटिशन, विजेता बच्चों को आपकी उपस्थिति में अवार्ड दिया जाएगा।
लोक कलाकरों द्वारा प्रस्तुति
अपने क्षेत्र में अच्छा काम करने वाले युवा साथियों को सम्मानित किया जाएगा
मोटिवेशनल स्पीकर,
सोशल रिफॉर्मर
कार्यक्रम के दौरान कुछ देसी गेम जैसे- हांडिया फोड़, म्यूज़ीक चेयर और रस्सी खींच

तो देर किस बात की, अपने परिवार और दोस्तों के साथ इस ‘लिट्टी चोखा और संवाद कार्यक्रम’ में जाने का प्लान बना ही लीजिए, तारीख याद रखिएगा 13 जनवरी, और पता ऊपर बता ही दिया है।

Facebook Comments