नरेंद्र मोदी को मुस्लिम विरोधी बताने वाले उनके बारे में यह सच जान लें…

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार को इंदौर में दाऊदी बोहरा समुदाय के धार्मिक कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंचे। उन्होंने धर्मगुरु सैयदना मुफद्दल सैफुद्दीन से मुलाकात की और दाऊदी बोहरा समुदाय के लोगों को संबोधित भी किया। दाऊदी बोहरा समाज के किसी धार्मिक कार्यक्रम को संबोधित करने वाले वह देश के पहले प्रधानमंत्री हैं। उन्होंने सैफी नगर की मस्जिद में सैयदना मुफद्दल सैफुद्दीन से मुलाकात की। इस मस्जिद में दाऊदी बोहरा समुदाय के धर्मगुरु के प्रवचन का 9 दिवसीय कार्यक्रम बीते बुधवार से शुरू हुआ है।Narendra Modi Mosque Indore प्रधानमंत्री मोदी के इस दौरे के सियासी मायने भी निकाले जा रहे हैं क्योंकि मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनावों की उल्टी गिनती शुरू हो गई है। साल के आखिर में होने वाले इन चुनावों से पहले मोदी के दौरे को सियासी तौर पर अहम माना जा रहा है। भाजपा मध्यप्रदेश में लगातार चौथी बार सरकार बनाने की चुनौती का सामना कर रही है, जबकि कांग्रेस राज्य की सत्ता से पिछले 15 साल का वनवास खत्म करने की कोशिश में जुटी है।Narendra Modi Mosque Indore

अनुमान के मुताबिक प्रदेश में दाऊदी बोहरा समुदाय की आबादी 20 लाख के आसपास है। समुदाय के ज्यादातर लोग व्यापार-व्यवसाय से जुड़े हैं। इंदौर के अलावा उज्जैन और बुरहानपुर में दाऊदी बोहरा समुदाय के लोग बड़ी संख्या में बसे हैं। प्रधानमंत्री मोदी के मस्जिद दौरे के अपने राजनीतिक निहितार्थ हैं।

यह पहला मौका नहीं है जब नरेंद्र मोदी मस्जिद पहुंचे

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को हमेशा गुजरात के मुख्यमंत्री रहते मुस्लिम टोपी को ठुकराने वाले के तौर पर देखा जाता है। लेकिन प्रधानमंत्री बनने के बाद अपनी सरकार के नारे सबका साथ, सबका विकास के नारे को सही साबित करते हुए मोदी कई मौकों पर मस्जिदों का दौरा कर राजनीतिक संदेश देने की कोशिश कर चुके हैं।CM Narendra Modi Gujrat Mosque

2011 में गुजरात के मुख्यमंत्री रहते नरेंद्र मोदी ने एक मौलाना द्वारा दी गई मुस्लिम टोपी को पहनने से इनकार कर दिया था। हालांकि इसको लेकर उन्होंने कई बार मीडिया के सामने इस पर सफाई भी दी और लोगों के सामने टोपी नहीं पहनने की वाजिब वजह भी बताई थी।

2011 में अहमदाबाद जिले के पीराणा गांव में एक कार्यक्रम था। कार्यक्रम के दौरान इमाम शाही सैयद ने मंच पर नरेंद्र मोदी को मुस्लिम टोपी पहनाने की कोशिश की लेकिन उन्होंने टोपी पहनने से इनकार कर दिया था। उस वाकये की तस्वीर काफी चर्चित हुई थी।

This slideshow requires JavaScript.

विदेश में कई बार मस्जिदों में जा चुके हैं नरेंद्र मोदी

गुजरात के मुख्यमंत्री रहते नरेंद्र मोदी ने भले ही सार्वजनिक मंच पर मुस्लिम टोपी पहनने की पेशकश ठुकरा दी थी लेकिन प्रधानमंत्री बनने के बाद वह देश-विदेश में कई मस्जिदों का दौरा कर चुके हैं।     PM Modi Istiqlal Mosque in Indonesia

पिछले साल जब जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे भारत दौरे पर आए थे तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद उन्हें अहमदाबाद की सीदी मस्जिद लेकर गए थे।Narendra Modi Sheikh Zayed Grand Mosque Dubai

प्रधानमंत्री मोदी ने अपने कुछ विदेश दौरों पर मस्जिद भी गए। दुबई, ओमान और इसी साल इंडोनेशिया व सिंगापुर दौरे के दरम्यान मोदी ने न सिर्फ मशहूर मस्जिदों का दौरा किया बल्कि वह हरे रंग की धार्मिक चादर भी स्वीकार करने में कोई हिचक नहीं दिखाई थी।PM Modi Istiqlal Mosque in Singapore

उन्होंने सिंगापुर की मशहूर चुलिया मस्जिद का दौरा किया था, जहां उन्हें हरे रंग की चादर भेंट की गई थी।PM Modi Istiqlal Mosque in Singapore

इंडोनेशिया में उन्होंने जकार्ता स्थित इस्तिकलाल मस्जिद का दौरा किया था।

Facebook Comments