जन्मदिन विशेष: मैदान के बाहर राहुल द्रविड़ द्वारा किए गए इस काम ने जीता है हर भारतीय का दिल

Written by Newsroom Staff January 11, 2019 6:17 pm

नई दिल्ली। 11 जनवरी 1973 को मध्य प्रदेश के इंदौर में जन्में भारतीय क्रिकेट टीम के सबसे भरोसेमंद खिलाड़ी राहुल द्रविड़ का आज जन्मदिन है। उनके जन्मदिन पर हम आपको उनकी जिंदगी के कुछ ऐसे किस्से बताएंगे जिनसे आप समझ पाएंगे कि राहुल द्रविड़ आखिर क्यों भारतीयों के दिलों पर राज करते हैं।

राहुल का ब्लड डोनेट चैलेंज

ये तो आप जानते ही हैं कि जब जब भारतीय क्रिकेट टीम को राहुल द्रविड़ की जरूरत पड़ी तब-तब उन्होंने मैदान पर खूंटा गाड़ दिया। लेकिन मैदान के बाहर भी राहुल द्रविड़ ने लोगों ने खूब मदद की है। मामला उस वक्त का है जब पूरी दुनिया आइस बकेट चैलेंज के पीछे भाग रही थी तब द वॉल के नाम से मशहूर ये खिलाड़ी ब्लड डोनेट चैलेंज पूरा कर रहा था।

ओलंपिक खिलाड़ी से मुलाकात की, बाद में जीता मेडल

गरीब असहाय लोगों की मदद करने में सबसे आगे रहने वाले राहुल, कई एनजीओ के साथ मिलकर जरूरतमंदों की मदद करने में आगे रहते हैं। एक ऐसा ही किस्सा राहुल को लेकर खूब चर्चा में रहा कि पैराओलंपिक में तैराकी स्पर्धा के दि्वयांग खिलाड़ी शरत गायकवाड़ अपनी जिंदगी से निराश हो चुके थे। और वो हीनभावना के साथ जिंदगी गुजार रहे थे।

इस बात की जानकारी जब राहुल द्रविड़ को हुई तो उन्होंने शरत से मिलकर बात की। राहुल ने शरत को अपनी जिंदगी के अनुभवों को बताया, उन्हें समझाया। इसका असर कुछ ऐसा रहा कि शरत काफी प्रेरित हुए और आगे चलकर देश के लिए तैराकी में एक सिल्वर, 5 ब्रॉंज सहित कुल 6 पदक जीते।

कैंसर पीड़ित फैन से मुलाकात की

राहुल द्रविड़ अपने फैंस का काफी सम्मान करते हैं। एक दफा राहुल के एक कैंसर पीड़ित फैन ने राहुल से मिलने की इच्छा जाहिर की। राहुल को जब पता चला तो उन्होंने उसकी मंशा पूरी करते वीडियो चैट के जरिए उस फैन से मुलाकात की और उसका हाल जाना।

राहुल का करियर, एक नजर में

बता दें कि राहुल द्रविड़ भारतीय टीम के एकमात्र ऐसे भारतीय बल्लेबाज हैं, जिनके नाम लगातार चार टेस्ट में सेंचुरी लगाने का रिकॉर्ड है। उन्होंने यह रिकॉर्ड 2002 में इंग्लैंड दौरे पर बनाया था। राहुल ने 164 टेस्ट मैचों में 36 शतकों की मदद से 13288 रन बनाए। वहीं वनडे के 344 मैचों में 12 शतकों की मदद से 10889 बनाए। बता दें कि राहुल टी-20 करियर बहुत लंबा नहीं रहा। उन्होंने एकमात्र टी-20 इंटरनेशनल मैच खेला और उसमें 31 रन बनाए।

Facebook Comments