वसुंधरा राजे को टक्कर देने कांग्रेस की ओर से मैदान में उतरे मानवेंद्र सिंह ने कहा- मैं यहां जीतने के लिए हूं

नई दिल्ली। राजस्थान में विधानसभा चुनाव को लेकर सरगर्मियां तेज होती जा रही है। वहीं राजस्थान की सबसे हॉट सीट झालरापाटन पर मुकाबला काफी जबरदस्त होने की उम्मीद जताई जा रही है। इस सीट से भारतीय जनता पार्टी की ओर से मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे मैदान में हैं तो वहीं दूसरी तरफ उनके खिलाफ बीजेपी से कांग्रेस में शामिल हुए मानवेंद्र सिंह टक्कर दे रहे हैं।

बता दें, राजस्थान की चुनावी लड़ाई में अति उत्सुकता भरा मुकाबला लड़ रहे कांग्रेस उम्मीदवार मानवेंद्र सिंह ने शुक्रवार को कहा कि मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को उनके गढ़ में हराना मुश्किल काम है, लेकिन वह ‘लड़ने और जीतने’ के लिए यहां हैं। ‘झालावाड़ आजाद होगा’ नारे के साथ सिंह ने कहा कि वह अपनी प्रबल प्रतिद्वंद्वी को चुनौती देने के लिए पूरी तरह तैयार हैं। पूर्व बीजेपी नेता जसवंत सिंह के बेटे मानवेंद्र सिंह ने कहा, ‘मैं सिर्फ चुनाव लड़ने और जीतने के लिए यहां हूं।’

चुनाव से कुछ हफ्ते पहले बीजेपी छोड़ कांग्रेस में शामिल हुए मानवेंद्र ने कहा कि जब उन्हें मुख्यमंत्री के खिलाफ लड़ने के लिए कहा गया तो उन्होंने एक सेकंड में इस चुनौती को स्वीकर कर लिया। यह पूछ जाने पर कि क्या वह इस चुनाव को ‘डेविड और गोलिएथ’ के युद्ध की तरह देख रहे हैं, सिंह ने इसका जवाब ‘न’ में दिया। उन्होंने कहा, ‘इसमें कोई शक नहीं कि यह मुश्किल काम है। मैं इस चुनौती को कम करके नहीं आंक रहा हूं। मैं खुद को डेविड बिल्कुल नहीं मानता। वसुंधरा राजे यहां से तीन बार विधायक होने के अलावा पांच बार सांसद भी रह चुकी हैं।’

हाल ही में कांग्रेस का दामन थामने वाले मानवेंद्र सिंह का कहना है कि जब उन्हें मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के खिलाफ चुनाव लड़ने के लिए कहा गया तो उन्होंने इस चुनौती को एक सेकेंड में स्वीकार कर लिया। वहीं झालरापाटन वसुंधरा राजे का गढ़ माना जाता है। ऐसे में मुकाबला दिलचस्प होने की उम्मीद जताई जा रही है। राजस्थान में विधानसभा के लिए 7 दिसंबर को मतदान होगा और 11 दिसंबर को मतगणना की जाएगी।

Facebook Comments