2022 तक ‘अपना घर’ का सपना होने वाला है साकार, बनेंगे 1.95 करोड़ मकान

वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण ने संसद में वित्‍त वर्ष 2019-20 का बजट पेश करते हुए आने वाले समय में प्रधानमंत्री आवास योजना (PMAY) के तहत 1.95 करोड़ मकान बनाने का प्रस्‍ताव रखा।

Written by Newsroom Staff July 6, 2019 5:23 pm

नई दिल्ली। मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में पीएएम मोदी ने वादा किया था कि, साल 2022 तक सभी को अपना घर मुहैया कराया जाएगा वो भी किफायती दामों पर। अब इस अभियान को मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में भी जारी रखा जाएगा और लोगों का ये सपना पीएम मोदी पूरा करने वाले हैं।

pmay

वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण ने संसद में वित्‍त वर्ष 2019-20 का बजट पेश करते हुए आने वाले समय में प्रधानमंत्री आवास योजना (PMAY) के तहत 1.95 करोड़ मकान बनाने का प्रस्‍ताव रखा।

वित्‍त मंत्री ने यह भी कहा कि मकानों के निर्माण कार्य को पूरा करने की अवधि जो 2015-16 में 314 दिनों की थी, वह 2017-18 में घटकर 114 हो गई, जिससे सरकार को पीएमएवाय के तहत अपने लक्ष्‍यों को पूरा करने में मदद मिली। सरकार की इस घोषणा से इस दिशा में कार्यरत रियल स्‍टेट जगत की कंपनियों को फायदा मिलेगा।

Finance Minister Nirmala Sitharaman presents the Budget 2019

अपने बजट भाषण में वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि सरकार का लक्ष्‍य प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 2022 तक सभी लोगों को मकान देने की है, जिनमें शौचालय, बिजली, एलपीजी कनेक्‍शन की सुविधाएं होंगी। उन्‍होंने यह भी कहा कि अब तक 26 लाख घरों का निर्माण कार्य पूरा हो चुका है और लोगों को 24 लाख मकान दिए जा चुके हैं।

pm modi

वित्‍त मंत्री ने यह भी कहा कि सरकार का लक्ष्‍य 2022 तक हर गांव में बिजली का कनेक्‍शन पहुंचाने का भी है। उन्‍होंने कहा कि सरकार की उज्‍ज्वला और सौभाग्‍य योजना से देश के विभिन्‍न हिस्‍सों में खासा बदलाव आया है। खास तौर पर महिलाओं की स्थिति में काफी सुधार हुआ है और उनकी मुश्किलें कम हुई हैं।