अगर खरीदना है घर तो हो जाइए तैयार…1 अप्रैल से बदल रहे हैं नियम

अगर आप घर खरीदना चाहते हैं तो हो जाईए तैयार क्योंकि 1 अप्रैल तक रुकना आपके लिए हो सकता है फायदेमंद , क्योंकि जीएसटी काउंसिंल के अंडर कंस्‍ट्रक्‍शन प्रोजेक्‍ट और सस्ते घरों पर जीएसटी घटाने से आपको घर खरीदते समय लाखों का फायदा मिलेगा।

Written by Newsroom Staff March 13, 2019 12:16 pm

नई दिल्ली। अगर आप घर खरीदना चाहते हैं तो हो जाइए तैयार क्योंकि 1 अप्रैल तक रुकना आपके लिए हो सकता है फायदेमंद , क्योंकि जीएसटी काउंसिंल के अंडर कंस्‍ट्रक्‍शन प्रोजेक्‍ट और सस्ते घरों पर जीएसटी घटाने से आपको घर खरीदते समय लाखों का फायदा मिलेगा। दरअसल, अंडर कंस्ट्रक्शन फ्लैटों पर मौजूदा 12 प्रतिशत की जगह 5 प्रतिशत जीएसटी कर दी गई है।

45 लाख रुपए कीमत के मकान पर होगी 5.82 लाख की बचत
पहली बार घर खरीदने का सुनहरा मौका कैसे है, इसको इस तरह समझ सकते हैं। अगर आप पहली बार घर अंडर कंस्‍ट्रक्‍शन प्रोजेक्‍ट में फ्लैट खरीद रहे हैं तो अभी तक 12 प्रतिशत की दर से जीएसटी का भुगतान करना होता है। वहीं एक अप्रैल से यह दर घटकर 5 फीसदी हो जाएगी, यानी जीएसटी में 7 फीसदी की कमी। इसके चलते 45 लाख रुपए की प्रॉपर्टी पर 3.15 लाख रुपए की सीधे बचत होगी। अगर आप पहली दफा घर खरीदने जा रहे हैं तो प्रधानमंत्री आवासीय योजना के तहत होम लोन पर 2.67 लाख रुपए की सब्सिडी मिलेगी। इस तरह कुल 5.82 लाख रुपए की बचत होगी।

property

किफायती घर खरीदना अब और होगा आसान

देश में घरों की कमी को दूर करने के लिए किफायती घरों की परिभाषा भी बदली गई है। मेट्रो शहर में 60 वर्ग मीटर (करीब 650 वर्ग फीट) के घर फिफायती श्रेणी में जबकि नॉन-मेट्रो शहरों में यह आकार 90 वर्ग मीटर (970 वर्ग फीट) कर दिया गया है। शर्त यह है मकान की कीमत 45 लाख रुपए तक हो। इसका मतलब यह हुआ कि 45 लाख रुपए तक के मकान किफायती श्रेणी में आएंगे। इस मकान पर मात्र 1 फीसदी की दर से जीएसटी देना होगा। यानी अगर आप पहली बार घर खरीद रहें तो सिर्फ एक फीसदी जीएसटी देकर आप घर खरीद सकते हैं। साथ ही प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत होम लोन पर सब्सिडी भी ले सकते हैं। सस्ते घरों पर जीएसटी घटाने का सकारात्मक असर होगा। इससे मांग और आपूर्ति के बीच अंतर में कमी आएगी।

property 2

 

9 बिंदुओं में समझें कैसे मिलेगा फायदा

अंडर कंस्ट्रक्शन प्रॉपर्टी पर GST कम करने पर सहमति बनी
अंडर कंस्ट्रक्शन प्रॉपर्टी पर GST 5 फीसदी तय हुआ
बिना इनपुट टैक्स क्रेडिट के अंडर कंस्ट्रक्शन प्रॉपर्टी पर GST 5 फीसदी लगेगा
अफोर्डेबल हाउसिंग पर 1 फीसदी GST लगाने को मंजूरी
45 लाख रुपये तक के घर पर 1 फीसदी GST लगाने को मंजूरी

property 3

ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स के 3% GST लगाने के प्रस्ताव का कई राज्यों ने किया विरोध
45 लाख रुपये तक के अंडर कंस्ट्रक्शन प्रॉपर्टी पर 5 फीसदी GST लगाने को मंजूरी
RBI के प्रियॉरिटी सेक्टर लेंडिंग नियमों के हिसाब से 45 लाख रुपये तक के घर अफोर्डेबल माने जाएंगे और उसपर 1% GST लगेगा
नए दरें 1 अप्रैल 2019 से लागू होंगे, 60 वर्ग मीटर तक के मकान शहरों में और 90 वर्ग मीटर तक के मकान मेट्रो शहरों में अफोर्डेबल सेगमेंट के अंदर आएंगे और इनपर 1 % GST लगेगा।

Facebook Comments