पिछले एक साल से बढ़ी लग्जरी घरों की मांग, ये है वजह

2018 से लग्जरी घरों की मांग में अच्‍छी खासी बढ़ोतरी देखने को मिल रही है। इस बढ़ोतरी का कारण कीमतों का स्थिर रहना बताया जा रहा है। संपत्ति सलाहकार फर्म एनारॉक की एक रिपोर्ट के अनुसार पिछले एक साल में डेढ़ से ढाई करोड़ रुपयों वाले लग्जरी फ्लैट्स का स्टॉक 12 फीसदी घटा है।

Written by: June 13, 2019 2:43 pm

नई दिल्ली। 2018 से लग्जरी घरों की मांग में अच्‍छी खासी बढ़ोतरी देखने को मिल रही है। इस बढ़ोतरी का कारण कीमतों का स्थिर रहना बताया जा रहा है। संपत्ति सलाहकार फर्म एनारॉक की एक रिपोर्ट के अनुसार पिछले एक साल में डेढ़ से ढाई करोड़ रुपयों वाले लग्जरी फ्लैट्स का स्टॉक 12 फीसदी घटा है।

संपत्ति सलाहकार फर्म एनारॉक के मुताबिक, ताजा अध्ययन से संकेत मिलता है कि एचएनआई अब लग्जरी आवासीय खंड में सुस्ती का लाभ उठा रहे हैं।’’ पुरी ने कहा कि लग्जरी फ्लैट्स की कीमतों के स्थिर होने व नकदी संकट से जूझ रहे बिल्डरों द्वारा आकर्षक ऑफर्स दिये जाने से अब लग्जरी फ्लैट्स की मांग में सुधार आ रहा है।

अनुज पुरी ने कहा कि 2019 की पहली तिमाही में डेढ़ लाख से ढाई लाख रुपये तक के लग्जरी फ्लैट्स का स्टॉक घटकर 42,650 रह गया है, जबकि साल 2018 की पहली तिमाही में यह आंकड़ा 48,300 था।

मार्च तिमाही के अंत तक मुंबई महानगर में लग्जरी फ्लैट्स का स्टॉक सबसे ज्यादा 23,930 था। वहीं कोलकाता में यह सबसे कम 770 था। बेंगलुरु में तो एक साल में यह स्टॉक 49 फीसदी घटकर 3,260 रह गया है। एनसीआर में इन फ्लैट्स के स्टॉक में सात फीसदी की कमी आई है।

40-80 लाख रुपये तक के मिड-सेगमेंट के घरों की बात करें, तो इस वर्ग के घरों के स्टॉक में 2018 की पहली तिमाही से लेकर 2019 की पहली तिमाही तक के समय में अधिकतम 14 फीसद की गिरावट देखी गई है।