घर खरीदारों को सुप्रीम कोर्ट से मिली बड़ी राहत, होम बायर्स का फाइनैंशल क्रेडिटर्स का दर्जा बरकरार

कोर्ट ने 200 रियल एस्टेट कंपनियों की उस याचिका को खारिज करते हुए होमबायर्स को यह दर्जा बनाए रखा है, जिसमें कंपनियों ने सरकार द्वारा किए गए IBC संशोधन को गैरकानूनी और असंवैधानिक कहा था।

Written by: August 11, 2019 9:47 am

नई दिल्ली। लाखों घर खरीदारों को सुप्रीम कोर्ट की तरफ से बड़ी राहत मिली है। उनका फाइनैंशल क्रेडिटर का दर्जा बरकरार रखा गया है। सुप्रीम कोर्ट ने आईबीसी (इन्सॉल्वेंसी व बैंकरप्सी कोड) के संशोधनों को बरकरार रखते हुए कहा है कि इससे बिल्डरों के अधिकारों का हनन नहीं होता।

Supreme-Court

कोर्ट ने 200 रियल एस्टेट कंपनियों की उस याचिका को खारिज करते हुए होमबायर्स को यह दर्जा बनाए रखा है, जिसमें कंपनियों ने सरकार द्वारा किए गए IBC संशोधन को गैरकानूनी और असंवैधानिक कहा था।

home buyers

इन सुप्रीम कोर्ट का यह फैसला होम बायर्स के लिए बड़ी राहत है। IBC में हुए बदलाव पर मुहर लग जाने से होम बायर्स को भी लोन देने वाले बैंकों के साथ फाइनैंशल क्रेडिटर का दर्जा मिल गया है। इससे इन्सॉल्वेंसी से जुड़ी कार्यवाही में होम बायर्स की सहमति की जरूरत होगी। बता दें कि साल 2018 में संसद ने IBC कानून पारित किया था, जिसमें घर खरीदारों और निवेशकों को दिवालिया घोषित कंपनी का कर्जदाता माना गया था।