गृह मंत्रालय ने लिया फैसला, चंडीगढ़ में सिख महिलाओं को हेलमेट पहनने से मिली छूट

नई दिल्ली/चंडीगढ़। चंडीगढ़ में सिख महिलाओं को हेलमेट पहनने से छूट दे दी गयी है। गृह मंत्रालय ने गुरुवार को कहा कि सिख निकायों ने गृह मंत्री राजनाथ सिंह के पास एक प्रतिवेदन भेजा था जिसके बाद यह फैसला लिया गया। अकाली दल के नेता और पंजाब के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल मांग पर जोर देने के लिए गृह मंत्री से मिले थे जिसके बाद यह घोषणा की गयी।

Rajnath Singh
चंडीगढ़ में सिख महिलाओं को हेलमेट पहनने से मिली छूट

मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि उसने चंडीगढ़ प्रशासन को दिल्ली सरकार द्वारा जारी की गयी अधिसूचना का पालन करने की सलाह दी है। अधिसूचना में केंद्र शासित क्षेत्र चंडीगढ़ में दोपहिया वाहन चलाते समय सिख महिलाओं को हेलमेट पहनने से छूट दी गयी है।Rajnath Singh

इससे पहले केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने गुरुवार को शिरोमणि अकाली दल (एसएडी) के नेताओं को आश्वास्त किया कि केंद्र शासित चंडीगढ़ में सिख महिलाओं को हेलमेट पहनना अनिवार्य करने वाली अधिसूचना वापस ली जाएगी। गृहमंत्री ने पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल और एसएडी के प्रमुख सुखबीर सिंह बादल के नेतृत्व वाले अकाली दल के प्रतिनिधिमंडल को आश्वासन दिया, जिसने गुरुवार को नई दिल्ली में सिंह से मुलाकात की थी। Rajnath Singh

राजनाथ ने आश्वासन दिया कि जुलाई 2018 में जारी हुई अधिसूचना को वापस लिया जाएगा और उन्हें पहले की तरह दुपहिया वाहनों पर हेलमेट पहनने से छूट मिलेगी। अधिसूचना के तहत चंडीगढ़ में सिख महिलाओं को हेलमेट पहनना अनिवार्य हो गया था।Rajnath Singh

एसएडी प्रतिनिधिमंडल ने गृहमंत्री को अवगत कराया कि अधिसूचना मुद्दे पर सर्वोच्च न्यायालय के फैसले की भावना के साथ-साथ यह सिख मर्यादा के भी खिलाफ है।

Facebook Comments