बांग्लादेशी क्रिकेट टीम के भारत दौरे पर संकट के बादल, किया हड़ताल का ऐलान

बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड ने बांग्लादेश प्रीमियर लीग के एक नियम में बदलाव किया है जिसके अंतर्गत हर बीसीएल टीम को प्लेइंग इलेवन में कम से एक एक लेग स्पिनर को शामिल करना अनिवार्य किया गया है।

Avatar Written by: October 21, 2019 4:52 pm

नई दिल्ली। नवंबर महीने में भारत और बांग्लादेश के बीच होने वाली टी-20 और टेस्ट मैचों की सीरीज पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं। दरअसल बांग्लादेशी क्रिकेट टीम को भारत दौर पर आना हैै और तीन टी-20 और 2 टेस्‍ट मैच खेलने हैं। जिसमें टी-20 सीरीज 3 नवंबर और टेस्‍ट मैच 14 नवंबर से शुरू होगी।

shakib al hasan

इसके बीच ही बांग्लादेश की क्रिकेट टीम ने सोमवार से हड़ताल का ऐलान कर दिया है। इस हड़ताल की वजह उनकी मांगे बताई जा रही है। क्रिकेटर्स ने घोषणा की है कि वह तब तक हर क्रिकेट गतिविधि से दूर रहेंगे जब तक उनकी 11 मांगें पूरी नहीं कर दी जाती। खिलाड़ियों ने बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड के सामने ये मांगें रखी हैं जिनमें उनकी सैलरी बढ़ाने की भी मांग है।

खिलाड़ियों ने अपनी मांगों की लिस्ट बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड को थमा दी है, जिसमें कुल 11 मांग की गई है। इसमें फ्रैंचाइजी मॉडल को फिर से लाने की मांग भी शामिल है। क्रिकइंफो की रिपोर्ट के मुताबिक, खिलाड़ी इसलिए बोर्ड के फ्रैंचाइजी आधारित मॉडल के समाप्त करने के विरोध में आ गए थे, क्योंकि इससे उनकी कमाई पर असर पड़ा था।

बता दें कि बांग्लादेशी टीम के सीनियर खिलाड़ियों ने कप्तान शाकिब अल हसन की अगुवाई में सोमवार दोपहर को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित की और उसमें, देश के क्रिकेट का संचालन जिस तरह से किया जा रहा है, उसे लेकर नाराजगी का जाहिर की। हालांकि बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड ने इस आलोचना पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी थी।

बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड ने बांग्लादेश प्रीमियर लीग के एक नियम में बदलाव किया है जिसके अंतर्गत हर बीसीएल टीम को प्लेइंग इलेवन में कम से एक एक लेग स्पिनर को शामिल करना अनिवार्य किया गया है। यही नहीं इस नियम को न मामने वाले दो टीमों के प्रमुख कोच को बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड ने सस्पेंड भी कर दिया था।