सिडनी में 18वां शतक जड़ते ही चेतेश्वर पुजारा ने ये 5 रिकॉर्ड्स किए अपने नाम

Written by Newsroom Staff January 4, 2019 10:11 am

नई दिल्ली। टीम इंडिया और ऑस्ट्रेलिया के बीच चार मैचों की टेस्ट सीरीज का अंतिम व निर्णायक मुकाबले सिडनी में खेला जा रहा है। टॉस जीतकर भारतीय टीम पहले बल्लेबाजी करने उतरी और खबर लिखे जाने तक पहली पारी में भारत मजबूत स्थिति में पहुंच चुका है। वहीं टीम इंडिया के टेस्ट स्पेशलिस्ट बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा ने एक बार फिर रिकॉर्ड्स की झड़ी लगा दी है।  

पुजारा ने एक टेस्ट सीरीज में सर्वाधिक रन बनाने का अपना पिछला रिकॉर्ड तोड़ दिया है। 2012-13 में पुजारा ने इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज में 438 रन बनाए थे। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मौजूदा सीरीज में तीन शतकों की मदद से पुजारा पिछले रिकॉर्ड से आगे निकल गए हैं।

चेतेश्वर पुजारा टेस्ट क्रिकेट में सबसे तेज 18 शतक बनाने के मामले में पूर्व कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन से आगे निकल गए हैं। पुजारा ने 114 पारियों में 18 शतक लगाए हैं, जबकि अजहरुद्दी ने यह काम 121 पारियों में किया था।

इसके अलावा ऑस्ट्रेलिया की सरजमीं पर एक टेस्ट सीरीज में सर्वाधिक सेंचुरी जड़ने के मामले में पुजारा ने पूर्व दिग्गज सुनील गावस्कर की बराबरी कर ली है। दोनों ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एक ही सीरीज में 3-3 शतक लगाए हैं। पुजारा ने सुनील गावस्कर के 41 साल पुराने रिकॉर्ड की बराबरी कर ली है। पुजारा ने इससे पहले एडिलेड और मेलबर्न में भी शतक लगाया था।

वीडियो

ऑस्ट्रेलियाई धरती पर एक टेस्ट सीरीज में सबसे ज्यादा शतक जड़ने का रिकॉर्ड टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने नाम हैं, जिन्होंने 2014-2015 के दौरे पर कंगारुओं के खिलाफ चार शतक ठोके थे।

इसके अलावा चेतेश्वर पुजारा ने एशिया के बाहर एक टेस्ट सीरीज में 3 शतक लगाए हैं। एशिया के बाहर एक सीरीज में सबसे ज्यादा टेस्ट शतक लगाने का रिकॉर्ड सुनील गावस्कर और विराट कोहली के नाम हैं। गावस्कर ने 1970-1971 के वेस्टइंडीज दौरे पर एक टेस्ट सीरीज में चार शतक जड़ दिए थे। विराट कोहली ने 2014-2015 के ऑस्ट्रेलियाई दौरे पर कंगारुओं के खिलाफ चार शतक ठोके थे।

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ नंबर तीन पर सबसे ज्यादा टेस्ट शतक चेतेश्वर पुजारा के नाम हैं। पुजारा ने इस नंबर पर बैटिंग करते हुए कंगारुओं के खिलाफ सबसे ज्यादा पांच शतक लगाए हैं। पुजारा के अलावा नंबर तीन पर ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मोहिंदर अमरनाथ और वीवीएस लक्षमण ने 2-2 और राहुल द्रविड़ और दिलीप वेंगसरकर ने 1-1 शतक ठोका है।

चेतेश्वर पुजारा ने बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी में तीन बार 400 से ज्यादा रन बनाए हैं। वह 2012/13, 2016/17 और 2018/19 में ऐसा करने में कामयाब हुए हैं। पुजारा के अलावा सचिन तेंदुलकर और मैथ्यू हेडन भी तीन-तीन बार बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी में 400 से ज्यादा रन बना चुके हैं।