अब टीम इंडिया की जर्सी से हटेगा चीनी कंपनी का नाम, इस भारतीय कंपनी को मिला मौका

सूत्रों के मुताबिक बीसीसीआई इसके लिए नए सीरे से कोई नीलामी नहीं प्रक्रिया नहीं शुरू करेगी, बल्कि ओपो ने खुद ये राइ्ट्स बायजू को दे दिए हैं।

Avatar Written by: July 25, 2019 1:09 pm

नई दिल्ली। पिछले दो सालों से भारतीय टीम की जर्सी पर चीनी मोबाइल निर्माता कंपीन ओप्पो का नाम छपा मिलता था। बीसीसीआई के साथ कंपनी ने पांच सालों का करार किया था, लेकिन अब खुद कंपनी पीछे हटने वाली है। ओप्पो की जगह अब भारतीय कंपनी बायजू(BYJU’S) का नाम नजर आएगा।

indian team

अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक वेस्टइंडीज़ के दौरे के बाद ओपो का नाम जर्सी से हट जाएगा। मार्च 2017 में ओपो को ये राइट्स 1079 करोड़ रुपये में पांच साल के लिए मिले थे। लेकिन कंपनी ने करीब ढाई साल के बाद ही इसे छोड़ने का फैसला किया है। सूत्रों के मुताबिक बीसीसीआई इसके लिए नए सीरे से कोई नीलामी नहीं प्रक्रिया नहीं शुरू करेगी, बल्कि ओपो ने खुद ये राइ्ट्स बायजू को दे दिए हैं। कहा जा रहा है कि ओपो को लग रहा है कि उसने इसके लिए जरुरत से ज्यादा पैसे खर्च कर दिए।

indian team 1

बीसीसीआई को इससे कोई घाटा नहीं होगा. बाकी बचे हुए पैसे अब बायजू से लिए जाएंगे। ओपो को बाइलैट्रल सीरीज़ के हर मैच के लिए बीसीसीआई को 4.6 करोड़ देने पड़ते थे। जबकि आईसीसी और एशिया कप के मुकाबलों के लिए कंपनी को हर मैच में 1.92 करोड़ रुपये बीसीसीआई को देना होता था। यानी अब ये पैसे बायजू को देने होंगे। इससे पहले स्टार इंडिया जर्सी पर नाम के लिए बीसीसीआई को बाइलैट्रल सीरीज़ के मैच के लिए सिर्फ 1.92 करोड़ देती थी। इसके अलावा स्टार को आईसीसी और एशिया कप के मुकाबले के लिए सिर्फ 61 लाख देने पड़ते थे।

byjus

26 हजार करोड़ रुपए की कंपनी BYJU’S को रविंद्रन ने खड़ा किया था। इसी सील इस कंपनी ने अमेरिका की कंपनी OSMO को खरीदा था। बायजू की ऑनलाइन कोचिंग कंपनी के जरिए सालाना कमाई 260 करोड़ रुपए हो चुकी है। शाहरुख खान कंपनी के ब्रैंड एम्बेसडर हैं। अगले 3 साल में कंपनी ने अपने रेवेन्यू का लक्ष्‍य 260 करोड़ से बढ़ाकर 3250 करोड़ करने का रखा है।