आपसी प्रतिस्पर्धा बेहतर होने के लिए प्रेरित करती है : मेहुली घोष

राष्ट्रमंडल खेलों की रजत पदक विजेता युवा महिला निशानेबाज मेहुली घोष ने कहा है कि इस समय में भारतीय टीम में जो आपसी प्रतिस्पर्धा का दौर है वह प्रतिदिन बेहतर होने के लिए प्रेरित करता है।

Written by: December 17, 2019 12:47 pm

नई दिल्ली। राष्ट्रमंडल खेलों की रजत पदक विजेता युवा महिला निशानेबाज मेहुली घोष ने कहा है कि इस समय में भारतीय टीम में जो आपसी प्रतिस्पर्धा का दौर है वह प्रतिदिन बेहतर होने के लिए प्रेरित करता है। मेहुली ने हाल ही में महिलाओं की 10 मीटर एयर राइफल प्रतिस्पर्धा में स्वर्ण पदक जीता है। इस वर्ग में भारतीय टीम लगातार अच्छा कर रही हैं इसका एक और उदाहरण 2018 विश्व चैम्पियनशिप में अंजुम मोदगिल का रजत पदक भी है।Mehuli Ghosh with PM Narendra Modiएक बयान में मेहुली ने कहा, “मुझे लगता है कि 10 मीटर एयर राइफल में स्पर्धा उच्च स्तरीय है। हम सभी, अंजुम, अपूर्वी चंदेला और बाकी निशानेबाज हर टूर्नामेंट में लगभग समान स्कोर कर रहे हैं। इस आपसी प्रतिस्पर्धा ने हमें अंतर्राष्ट्रीय टूर्नामेंट्स में बेहतर करने को प्रेरित किया है।”
Mehuli Ghosh

उन्होंने कहा कि भारत की ओलम्पिक टीम में जगह बनाना मुश्किल है लेकिन वह इसकी कोशिश करेंगी।Mehuli Ghosh

उन्होंने कहा, “टीम विश्व कप के बाद मार्च में चुनी जाएगी। टीम में जगह बनाना काफी मुश्किल है, लेकिन मैं हर टूर्नामेंट में अपना सर्वश्रेष्ठ देने की कोशिश करूंगी।”Mehuli Ghosh

मेहुली अगले महीने जनवरी में होने वाले खेलो इंडिया गेम्स की भी तारीफ की है और कहा है कि इससे युवा को अंतर्राष्ट्रीय टूर्नामेंट जैसा माहौल मिलता है।

Mehuli Ghosh

उन्होंने कहा, “मैंने खेलों इंडिया गेम्स में हिस्सा लिया है और मेरा अनुभव बेहद शानदार रहा है। पुणे के एक स्टेडियम में कई सार खेलों को एक साथ आयोजित होते हु देखना बेहतरीन अनुभव था। इसने मुझे अहसास दिलाया कि अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर कैसे मैच खेले जाते हैं। वह शानदार अनुभव था। यह भारत के लिए प्लस प्वांट है।”