सुषमा स्वराज सीएचजी सम्मेलन में आतंकवाद के मुद्दे पर एक बार फिर पाकिस्तान पर बरसीं

दुशांबे। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) के सदस्य देशों से वैश्विक चुनौतियों से निपटने के लिए एकजुट होने की अपील करते हुए आतंकवाद के खिलाफ लड़ने को कहा। स्वराज एससीओ के शासनाध्यक्षों की परिषद (सीएचजी) के दो दिवसीय सम्मेलन में शामिल होने के लिए यहां आईं हैं। उन्होंने अन्य एससीओ देशों के प्रतिनिधि प्रमुखों सहित ताजिकिस्तान के राष्ट्रपति इमोमाली रहमोन से मुलाकात की।

Sushma Swaraj
आतंकवाद के मुद्दे पर सुषमा स्वराज ने पाक को दे चेतावनी

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने ट्वीट करके बताया कि स्वराज ने यहां एससीओ शासनाध्यक्षों की परिषद की सीमित प्रारूप वाली बैठक को संबोधित करते हुए आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में एकजुट होने की जरूरत को रेखांकित किया।Sushma Swaraj SCO Summit

उन्होंने जलवायु परिवर्तन से निपटने,संपर्क और क्षेत्रीय शांति का प्रचार-प्रसार करने का आग्रह किया। इस सम्मेलन में आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में सहयोग बढ़ाने के साथ ही क्षेत्रीय तथा वैश्विक मुद्दों पर विचार-विमर्श किया जाएगा। सम्मेलन में पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी भी भाग ले रहे हैं। सीएचजी बैठक में सीरिया, अफगानिस्तान और कोरियाई प्रायद्वीप की स्थितियों की समीक्षा की जा सकती है। जून 2017 में भारत का एससीओ का पूर्णकालिक सदस्य बनने के बाद यह सीएचजी की दूसरी बैठक है।

एससीओ सम्‍मेलन में सुषमा स्‍वराज ने पाक को दिखाया आईना

शंघाई सहयोग संगठन (SCO) की बैठक के दौरान विदेश मंत्री सुषमा स्‍वराज एक बार फिर पाकिस्‍तान पर जमकर बरसीं। शुक्रवार को सम्‍मेलन को संबोधित करते हुए उन्‍होंने आतंकवाद पर बड़ा बयान दिया। पाकिस्‍तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी की मौजूदगी में उन्‍होंने दो टूक कहा कि आतंकवाद आज भी विकास व समृद्धि के साझा हितों के लिए सबसे बड़ा खतरा है।Sushma Swaraj

पाकिस्‍तान को कड़ा संदेश देते हुए उन्‍होंने साफ कहा कि ऐसे में जबकि आतंकवाद का प्रभाव बढ़ रहा है, सभी सरकारों को चाहिए कि वे इस दिशा में अपनी राष्‍ट्रीय जवाबदेहियों का निर्वाह करें और अन्‍य देशों की सरकारों के साथ सहयोग करें।

इस दौरान वह चाइना पाकिस्‍तान इकॉनोमिक कॉरीडोर (CPEC) को लेकर चीन को भी कड़ा संदेश देने से नहीं चूकीं और साफ कहा कि संपर्क परियोजनाओं के दौरान दूसरे देशों की संप्रभुता व क्षेत्रीय अखंडता का सम्‍मान अवश्‍यक किया जाना चाहिए।

सुषमा स्वराज ने पाक विदेश मंत्री को SCO समिट में फिर किया नजरअंदाज

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ताजिकिस्तान में हैं। यहां वह शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) के दो दिन के सम्मेलन में हिस्सा लेने पहुंची हैं। इस सम्मेलन में जब विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का अपने पाकिस्तानी समकक्ष से आमना-सामना हुआ तो दोनों के बीच की तल्खी साफ नजर आई। बताया जा रहा है कि सम्मेलन में दोनों नेताओं के बीच किसी भी तरह की कोई बातचीत नहीं हुई। फोटो सेशन के दौरान भी विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने पाकिस्तानी विदेश मंत्री एसएम कुरैशी को नजरअंदाज कर दिया।Mehmood Qureshi

बीते महीने सार्क देशों के विदेश मंत्रियों की बैठक के दौरान भी विदेश मंत्री ने अपने पाकिस्तानी समकक्ष को नजरअंदाज किया था। इस बैठक में सुषमा स्वराज ने आतंकवाद को लेकर पाकिस्तान को खूब खरी-खरी सुनाई थी। उन्होंने पाकिस्तान का नाम लिए बगैर कहा था कि दक्षिण एशियाई क्षेत्र की शांति और स्थिरता के लिए आतंकवाद सबसे बड़ा खतरा बना हुआ है। इसे हर रूप में खत्म करने की जरूरत है। इस बैठक में पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी भी मौजूद थे। लेकिन सुषमा उनके भाषण से पहले ही बैठक से चली गई। इससे पाकिस्तान को बड़ी शर्मिंदगी झेलनी पड़ी।

Facebook Comments