अंतर्राष्ट्रीय बाजार

इस साल की शुरुआत में घरेलू इक्विटी और डेब्ट बाजार में डॉलर की आमद बढ़ने के कारण रुपये में जबरदस्त मजबूती रही, लेकिन अब विपरीत स्थिति पैदा हो गई है।

अमेरिका और चीन के बीच ट्रेड वार के चलते पिछले एक साल में अंतर्राष्ट्रीय बाजार में रूई (कॉटन) का भाव 32 फीसदी से ज्यादा टूटा है।

तेल विपणन कंपनियों ने दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई चारों प्रमुख महानगरों में पेट्रोल के दाम में फिर छह पैसे की कटौती की है। उधर, अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के भाव में फिर नरमी देखी जा रही है जिससे पेट्रोल और डीजल के भाव बढ़ने की संभावनाओं पर फिलहाल ब्रेक लग गया है।

अंतर्राष्ट्रीय बाजार में पिछले सत्र में कच्चे तेल के भाव में आई नरमी अमेरिका में गैसोलीन के भंडार में जबरदस्त इजाफा होने से प्रेरित रही। हालांकि अमेरिकी एजेंसी इनर्जी इन्फॉर्मेशन (ईआईए) की हालिया रिपोर्ट के अनुसार अमेरिका में कच्चे तेल का भंडार पिछले सप्ताह थोड़ा घटा ही है। 

पिछले सप्ताह आम बजट 2019-20 संसद में पेश करते हुए वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने महंगी धातुओं पर सीमा शुल्क 10 फीसदी से बढ़ाकर 12.50 फीसदी करने की घोषणा की। केडिया कमोडिटी के डायरेक्टर अजय केडिया ने बताया कि सोने और चांदी में आई हालिया तेजी विदेशी बाजार से प्रेरित है जहां अमेरिकी केंद्रीय बैंक फेडरल रिजर्व के प्रमुख जेरोम पॉवेल द्वारा आगे ब्याज दरों में कटौती का संकेत देने से महंगी धातुओं में तेजी का रुझान बना हुआ है।

उधर, अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के भाव में बीते सत्र में आई भारी गिरावट के बाद रिकवरी आई है। ब्रेंट क्रूड के दाम में मंगलवार को तीन फीसदी से ज्यादा की गिरावट आई थी।

अमेरिकी केंद्रीय बैंक फेडरल रिजर्व द्वारा इस साल ब्याज दर में कटौती का संकेत दिए जाने के बाद से डॉलर में कमजोरी आई थी। डॉलर इंडेक्स पिछले सत्र के मुकाबले 0.17 फीसदी की गिरावट के साथ 95.808 बना हुआ था। 

अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम में फिर तेजी का रुख और दुनिया की प्रमुख मुद्राओं के मुकाबले डॉलर में बीते सत्र में रही मजबूती से रुपये पर दबाव देखा जा रहा है।

अंतर्राष्ट्रीय वायदा बाजार आईसीई पर सोमवार को कच्चे तेल का जुलाई वायदा पिछले सत्र से 2.10 फीसदी की कमजोरी के साथ 69.36 डॉलर प्रति बैरल पर बना हुआ था। वहीं, डब्ल्यूटीआई का जून अनुबंध 2.29 फीसदी की गिरावट के साथ 60.52 डॉलर प्रति बैरल पर बना हुआ था।

अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम में आई नरमी से देसी मुद्रा रुपये में मंगलवार को भी मजबूती बनी रही। शुरुआती कारोबार में डॉलर के मुकाबले रुपया पिछले सप्ताह के आखिरी सत्र के मुकाबले 23 पैसे की मजबूती के साथ 69.78 पर बना हुआ था। इससे पहले रुपया पिछले सत्र के मुकाबले 17 पैसे की मजबूती के साथ 79.84 पर खुला।