अखिलेश

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भाजपा की वर्चुअल रैली पर निशाना साधा और कहा कि भाजपा झूठ का विश्व रिकॉर्ड बना रही है।

मायावती की तानाशाही और भाई-भतीजावाद से नाराज़ ये धड़ा भी पाला बदलकर बीजेपी में जा सकता है। इस तरह बीजेपी जल्द ही बहुमत के करीब पहुंच सकती है।

वहीं यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ उपचुनाव की एक एक सीट पर जीत दर्ज करने की खातिर जी जान से जुट गए हैं।

योगी आदित्यनाथ ने रविवार को जौनपुर में मायावती और अखिलेश यादव पर जमकर हमला बोला। योगी ने कहा कि 23 मई को दोनों में मारपीट तय है, लेकिन हम कानून एवं व्यवस्था खराब नहीं होने देंगे।

कहा गया है कि राजनीति में न कोई किसी का दोस्त होता है, और न दुश्मन। यह बात यहां शुक्रवार को एक बार फिर चरितार्थ हुई है, जब सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव और बसपा प्रमुख मायावती ने एक साथ मंच साझा किया।

24 साल बाद मंच पर आज साथ नजर आए माया-मुलायम

नई दिल्ली। सपा से अलग होकर प्रगतिशील समाजवादी पार्टी-लोहिया बनाने वाले शिवपाल यादव को 2019 लोकसभा चुनावों के लिए चाबी...

नई दिल्ली। मिशन 2019 को लेकर खासकर यूपी में चुनावी बिसात बिछनी शुरू हो गई है। जिसमें इस बार अहम...

नई दिल्ली। 2019 लोकसभा चुनाव को लेकर उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी गठबंधन ने औपचारिक ऐलान...

नई दिल्ली। बहुजन समाज पार्टी और समाजवादी पार्टी के बीच गठबंधन का एलान हो गया है। प्रेस कॉन्फ्रेंस में मायावती...