अनाड मंडी आग

यहां के तक़रीबन 35 से 40 लोग इस जैकेट फैक्ट्री में काम करते हैं। फैक्ट्री का मालिक जुबैर भी नरियार गाँव का ही रहने वाला है  जो यहाँ से लड़कों को अपने फैक्ट्री में ले जाकर जैकेट तैयार करवाने का काम करता था।

जिस इमारत में आग लगी थी उसके मालिक रेहान को गिरफ्तार कर लिया गया है। रेहान पर आईपीसी की धारा 304 और 285 (लापरवाही) के तहत केस दर्ज किया गया है। बिल्डिंग का मालिक सुबह से फरार था।

अपनी जान की परवाह किए बगैर वह देवदूत बनकर लोगों को आग से घिरी बिल्डिंग से बाहर निकालने लगे। राहत कार्य के दौरान उनके पैर में चोट भी आ गई और एलएनजेपी अस्पताल में उनका इलाज चल रहा है।

सूत्रों के मुताबिक ये आग बिल्डिंग के आंतरिक सिस्टम में लगी है क्योंकि BSES के मीटर पूरी तरह सुरक्षित हैं। बिल्डिंग के सामने से गुज़र रही BSES के वायर और पोल भी सुरक्षित हैं। आग बिल्डिंग की दूसरी और तीसरी फ़्लोर पर लगी है।

राजधानी दिल्ली के रानी झांसी रोड पर लगी भीषण आग में अब तक तकरीबन 45 लोगों की जान जा चुकी है। सुबह 5 बजकर 22 मिनट पर फायर टेंडर को कॉल मिली। शुरुआती तफ्तीश में पता चला है कि शार्ट सर्किट से आग लगी है।

कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने राष्ट्रीय राजधानी के अनाज मंडी में एक कारखाने में रविवार अल सुबह लगी भीषण आग पर हैरानी जताई है। ज्ञात हो कि इस दुर्घटना में कम से कम 43 लोगों की जान जा चुकी है।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल घटनास्थल पर पहुंचे और इसके बाद घायलों को देखने अस्पताल भी गए। घटना के बाद मुख्यमंत्री केजरीवाल ने मृतकों के परिजनों को 10-10 लाख रुपये मुआवजा देने का ऐलान किया।