अमानतुल्लाह खान

जानकारी के मुताबिक, अमानतुल्लाह खान विधानसभा चुनाव होने के बाद भी वक्फ बोर्ड के ऑफिस आकर चेयरमैन के तौर पर काम कर रहे थे। लेकिन वह कानूनी तौर पर चयरमैन नहीं थे, क्योंकि दोबारा बोर्ड के अध्य्क्ष का चुनाव नहीं हुआ था। इसके बीच विधानसभा मामलों की समिति और दिल्ली सरकार के मंत्री कैलाश गहलोत ने उन्हें पद से हटाने का फैसला किया है।

आम आदमी पार्टी (आप) के विधायक अमानतुल्लाह खान की ओर से दिल्ली हिंसा व हत्या के आरोपी व पार्टी के निलंबित पार्षद ताहिर हुसैन का बचाव किए जाने पर भाजपा के सांसद गौतम गंभीर ने ट्वीट कर आप व अरविंद केजरीवाल पर कड़ा कटाक्ष किया है।

इस पूरे मामले पर एक बार फिर आप के विधायक अमानतुल्लाह खान ताहिर हुसैन के बचाव में सामने आ गए और सोशल मीडिया पर उन्होंने ताहिर की गिरफ्तारी को धर्म सो जोड़कर एक नया बखेड़ा खड़ा कर दिया।

इस मामले में पिछले साल मई में मैजिस्ट्रेट कोर्ट ने अमानतुल्ला को बरी कर दिया था। जिसके बाद दिल्ली पुलिस ने उस आदेश को सेशन कोर्ट को चुनोती दी थी। आज सेशन कोर्ट ने भी मजिस्ट्रेट कोर्ट के आदेश को बरकरार रखा है।

खास बात यह है कि आप के अमानतुल्लाह खान ने 100726 वोट हासिल कर जीत का लक्ष्य हासिल कर लिया है। 8 फरवरी को हुए मतदान में इस सीट पर कुल 197170 वोट पड़े।

इससे पहले कुमार विश्वास ने केजरीवाल के खास कहे जाने वाले अमानतुल्लाह खान को लेकर एक ट्वीट किया था, जिसमें लिखा था कि, 'जिस अमानती गुंडे और उसके जोड़ीदार शरजिल इमाम से शुरू करवाया था उन्हें ही भेज कर उठवा दो,कह किस से रहे हो ?

याचिकाकर्ता का आरोप है कि दिल्ली वक्फ बोर्ड के सदस्य और अध्यक्ष के रूप में 12 मार्च, 2016 से सात अक्टूबर, 2016 तक के अमानतुल्लाह खां के कार्यकाल के दौरान उन पर बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार, अनियमितताएं और गैरकानूनी काम करने के आरोप लगे थे।

याचिकाकर्ता का आरोप है कि दिल्ली वक्फ बोर्ड के सदस्य और अध्यक्ष के रूप में 12 मार्च, 2016 से सात अक्टूबर, 2016 तक के अमानतुल्लाह खां के कार्यकाल के दौरान उन पर बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार, अनियमितताएं और गैरकानूनी काम करने के आरोप लगे थे।

दिल्ली के दंगों (जामिया नगर) में जैसे-तैसे आफत गले में पड़ने से बचे आम आदमी पार्टी के विधायक अमानतुल्लाह खान अब यूपी में जा फंसे हैं। यूपी पुलिस ने गाजियाबाद के थाना कोतवाली में एमएलए के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज कर लिया है।

दक्षिण-पूर्व दिल्ली के पुलिस उपायुक्त (डीसीपी ) चिन्मय बिस्वाल ने सोमवार को कहा कि नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को लेकर जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय में छात्रों द्वारा हिंसक विरोध प्रदर्शन किए जाने के बाद जामिया पुलिस थाने और न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी स्थित पुलिस थाने में दो प्राथमिकियां दर्ज कराई गई हैं। इनमें से एक मामला आम आदमी पार्टी (आप) के विधायक अमानतुल्लाह खान के खिलाफ दर्ज किया गया है।