अमित शाह

लोकसभा चुनाव के सातों चरण तो समाप्त हो गए हैं, अब इसका नतीजा 23 मई को आना है। नतीजों से पहले आए तमाम एग्जिट पोल ने NDA को बहुमत का मिलने का दावा कर रही है।

लोकसभा चुनावों के सातवें और अंतिम चरण के मतदान के लिए प्रचार खत्म करने के अगले दिन भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अध्यक्ष अमित शाह ने शनिवार को गुजरात स्थित सोमनाथ मंदिर में पूजा की। इस दौरान अमित शाह के साथ उनका पूरा परिवार मौजूद था। 

सूत्रों से पता चला है कि चुनाव आयुक्त लवासा ने मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा को एक पत्र लिखा है जिसमें उन्होंने कहा है कि अल्पसंख्यक निर्णयों को रिकॉर्ड नहीं किया जा रहा है इसलिए वे पूर्ण आयोग की बैठकों से दूर रहने के लिए मजबूर हैं।

बाबा सोमनाथ के दरबार में पहुंचे अमित शाह, की पूजा-अर्चना, देखें तस्वीरें

देश की जनता को धन्यवाद कहते हुए पीएम मोदी ने कहा कि, "जब मैं चुनाव के लिए निकला और मन बनाकर निकला था और अपने को उसी धार पर रखा। मैंने देशवासियों को कहा था कि 5 साल मुझे देश ने जो आशीर्वाद दिया उसके लिए मैं धन्यवाद देने आया हूं।

राजनाथ ने ट्वीट में कहा, "कानून-व्यवस्था किसी राज्य सरकार और उसके मुख्यमंत्री की प्राथमिक जिम्मेदारी है। पश्चिम बंगाल सरकार ओर मुख्यमंत्री को मौजूदा हालात की जिम्मेदारी लेनी चाहिए।"

इतना ही नहीं चुनाव आयोग ने बंगाल ADG CID राजीव कुमार को पश्चिम बंगाल से गृह मंत्रालय बुला लिया। इसके अलावा चुनाव आयोग ने पश्चिम बंगाल में कल(16 मई) से ही रात 10 बजे से चुनाव प्रचार पर रोक लगा दी है।

भाजपा अध्यक्ष ने दावा किया कि पश्चिम बंगाल में उनकी पार्टी 23 सीटों पर जीत दर्ज करेगी। तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने भाजपा-कांग्रेस के बिना एक संघीय मोर्चे का प्रस्ताव दिया है।

अमित शाह के आरोपों के बाद अब टीएमसी ने भी प्रेस कांफ्रेंस करके पलटवार किया है। बता दें कि तृणमूल कांग्रेस के नेता डेरेक ओ ब्रायन ने प्रेस कांफ्रेंस में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह पर कई आरोप लगाए।

अमित शाह ने कहा कि कल यदि सीआरपीएफ नहीं होती तो मेरा वहां से बचकर निकलना मुश्किल था। सौभाग्य से ही मैं बचकर आया हूं। कल की घटना की कलकत्ता हाईकोर्ट अथवा सुप्रीम कोर्ट से जांच करा लें।