अमेरिका

इंडिया ग्लोबल वीक नाम के एक वीडियो सेशन में विदेश मंत्री एस जयशंकर ने अपनी राय रखी। उन्होंने कहा कि भारत और अमेरिका को अपने संबंध समझने में छह दशक लग गए लेकिन अंततः यह संबंध मजबूत बनकर सामने आया।

इस नियुक्ति से पहले एनआईएफए के निदेशक डॉ. स्कॉट एंजेल थे। वहीं पराग चिटनीस को इस वर्ष की शुरुआत में ‘प्रोग्राम्स’ का सहायक निदेशक बनाया गया था।

पकिस्तान को एक और बड़ा झटका लगा है। अमेरिका ने पाकिस्तान की इंटरनेशनल एयरलाइंस पर बैन लगा दिया है। अमेरिका ने इसके पीछे पाकिस्तानी पायलटों के सर्टिफिकेशंस को लेकर फेडरल एविएशन एडमिनिस्ट्रेशन की चिंताओं का हवाला दिया है।

अमेरिका में कोरोना से कोहराम मचा हुआ है। संक्रमण के मामले में अमेरिका विश्व में पहले नंबर पर है। ऐसी स्थिति में कोरोना से बचने के लिए अमेरिका अब आयुर्वेद की शरण में आ रहा है।

व्हाइट हाउस ने कहा है कि अमेरिका चीन के खिलाफ और कदम उठाने की तैयारी कर रहा है। हालांकि राष्ट्रपति के इन कदमों के बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई।

पोम्पियो ने कहा, 'मैंने विदेश मंत्री एस जयशंकर से इस (चीन की आक्रामक गतिविधियों) के बारे में कई बार बात की है। चीन वालों ने अत्यंत आक्रामक गतिविधियां संचालित की हैं। भारतीयों ने उनका जवाब भी सर्वश्रेष्ठ तरीके से दिया है।'

चीन के प्रमुख अंग्रेजी अखबार ने कहा है कि अमेरिका अपना प्रभाव बढ़ा रहा है और दुनिया इसका खामियाजा भुगतेगी। अमेरिका उन तमाम देशों को अपना समर्थन दे रहा है जिनसे चीन का क्षेत्रीय विवाद रहा है।

अमेरिका के राष्ट्रपति ट्रंप ने मई में ही घोषणा की थी कि उनका देश विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के साथ अपने संबंधों को समाप्त कर रहा है। ट्रंप ने तब कहा था, 'चीन का डब्ल्यूएचओ पर पूरा नियंत्रण है जो साल में केवल 40 मिलियन डॉलर का भुगतान करता है जबकि अमेरिका 450 मिलियन डॉलर देता है।'

अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने जानकारी देते हुए कहा है कि अमेरिका ने चीनी कम्युनिस्ट पार्टी (सीसीपी) के उन अधिकारियों पर वीजा प्रतिबंध लगाने का फैसला किया है, जिन्होंने तिब्बत में विदेशियों के लिए नीतियों के निर्माण में काफी हद तक शामिल हैं।

भारत और चीन विवाद के बीच चीन के खिलाफ अब भारत को अमेरिका से सैन्य सहयोग मिलेगा। व्हाइट हाउस के एक शीर्ष अधिकारी ने सोमवार को कहा कि अमेरिकी सेना भारत और चीन के बीच या कहीं और भी संघर्ष के संबंध में उसके साथ ‘‘मजबूती से खड़ी रहेगी।’’