अमेरिका

हमेशा भारत का बुरा सोचने वाले पाकिस्तान को शायद अब अकल आ गई है। कंगाली की हालत में पहुंच चुके पाकिस्तान को अब समझ में आने लगा है कि भारत से दुश्मनी मोल लेना उसे किस कदर भारी पड़ रहा है।

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने बुधवार को कहा कि संयुक्त राज्य अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने दाओस में आयोजित विश्व आर्थिक मंच में पाकिस्तानी प्रतिनिधिमंडल को आश्वासन दिया है कि वह जल्द ही पाकिस्तान का दौरा करेंगे।

अब FATF की अगली बैठक बीजिंग में होनी है। कुरैशी ने कहा था, ‘ये बैठक हमारे लिए बहुत अहम है। उसके बाद अप्रैल में पेरिस में निर्णायक बैठक होगी।

वरिष्ठ राजनयिक तरणजीत सिंह संधू को अमेरिका में भारत का नया राजदूत नियुक्त किया गया है। वह वर्तमान में श्रीलंका में भारत के राजदूत हैं। तरणजीत सिंह अमेरिका में हर्षवर्धन श्रृंगला का स्थान लेंगे। बता दें कि हर्षवर्धन श्रृंगला को भारत का नया विदेश सचिव नियुक्त किया गया है।

श्रीलंका की सरकार के साथ मुख्य मुद्दों पर उच्चस्तरीय वार्ता के लिए अमेरिका, चीन और रूस के शीर्ष अधिकारी इस हफ्ते यहां बैठक करने वाले हैं। मीडिया ने सोमवार को इस बात की जानकारी दी।

अमेरिका ने बगदाद एयरपोर्ट पर एक एयर स्‍ट्राइक किया था, जिसमें ईरान समर्थित कुर्द बल के प्रमुख मेजर जनरल कासिम सुलेमानी की मौत हो गई थी।

कार्यालय ने बताया कि इस दौरान दोनों नेताओं ने इराक में तनाव कम करने पर चर्चा की तथा स्थिरता लाने और दाएश (इस्लामिक स्टेट) के खिलाफ जारी जंग के लिए समर्थन जारी रखने की जरूरत पर जोर दिया।

ईरान-अमेरिका तनाव के बीच एक बार फिर बगदाद पर रॉकेट दागे जाने की खबर आई है। इराक स्थित अमेरिकी दूतावास पर रॉकेट से हमला किया गया। रॉकेट अमेरिकी दूतावास से करीब 100 मीटर दूर गिरी।  

हाल ही में ईरान ने अमेरिका की सभी सेनाओं को आतंकी घोषित कर दिया है। ईरान और अमेरिका के बीच बढ़ते तनाव को देखते हुए भारत में ईरान के राजदूत अली चेगेनी ने कहा है कि हम युद्ध नहीं चाहते।

इराक में अमेरिकी सैन्य ठिकानों पर हुए हमले में 80 सैनिकों की मौत हुई है। यह दावा ईरानी मीडिया ने किया है। ईरानी सैन्य कमांडर कासिम सुलेमानी की हत्या के बाद ईरान ने इराक स्थित अमेरिकी सैन्य ठिकानों पर दर्जनभर बैलिस्टिक मिसाइलों से हमला किया।