अयोध्या

सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद अयोध्या में मुसलमानों की खातिर पांच एकड़ जमीन की तलाश शुरू कर दी गई है।यह जमीन मस्जिद के निर्माण के लिए दी जाएगी। सूत्रों के मुताबिक सरकार अयोध्या की 14 कोसी सीमा के बाहर ही इस जमीन की तलाश कर रही है।

सूबे में बीते ढाई साल में शनिवार को पहला मौका था जब पूरे प्रदेश में एक भी हत्या, लूट, अपहरण, बलात्कार और डकैती जैसी कोई वारदात नहीं हुई। इस तरह से फैसले के दिन यूपी पूरी तरह से अपराधमुक्त रहा।

आज कार्तिक पूर्णिमा है। आज दान करने का अलग महत्व है। इस अवसर पर विभिन्न धार्मिक कार्यक्रमों का आयोजन हो रहा है। नदियों और तालाबों में श्रद्धालुओं की भीड़ जुट रही है। सभी भगवान की पूजा अर्चना कर रहे हैं।

सीएम योगी के कड़े निर्देशों का साफ असर दिखाई दिया। अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद आपत्तिजनक सोशल मीडिया पोस्ट के मामले में पूरे उत्तर प्रदेश में 77 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। लखनऊ पुलिस ने 34 मामले दर्ज कर लिए गए हैं और 77 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

देश के सबसे चर्चित मामलों में से एक अयोध्या भूमि विवाद पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद राम मंदिर निर्माण का रास्ता साफ हो गया है। इसके अलावा कोर्ट ने मुस्लिम पक्ष को मस्जिद के लिए अयोध्या मंज ही 5 एकड़ जमीन देने का फैसला सुनाया।

राम मंदिर निर्माण के लिए सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद अब इसके स्थापत्य को लेकर उत्सुकताएं जागी हैं। इसकी तैयारियां 90 के दशक यानी करीब 30 साल पहले ही आर्किटेक्ट चंद्रकांत भाई ने शुरू कर दी थी।

अयोध्या विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के ऐतिहासिक फैसले का पुरातत्वविद और भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) के पूर्व अधिकारी केके मोहम्मद ने भी स्वागत किया है।

दिग्गज पटकथा लेखक और फिल्म निर्माता सलीम खान ने शनिवार को कहा कि अयोध्या में मुस्लिमों को दी जाने वाली पांच एकड़ भूमि पर स्कूल बनाया जाना चाहिए।

भाजपा के वयोवृद्ध नेता मुरली मनोहर जोशी ने शनिवार को अयोध्या भूमि विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत किया और इसे न सिर्फ हिंदुओं की, बल्कि प्रत्येक भारतीय की जीत बताया।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को यहां कहा कि अयोध्या विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले ने देश और दुनिया में भारत की संवैधानिक व्यवस्था और लोकतंत्र की मजबूती को फिर से साबित कर दिया है।