अलका लांबा

करीब एक महीने पहले आप से अलग हो चुकी अलका अब पूरी तरह से कांग्रेस के साथ आ गई हैं। दिल्ली कांग्रेस प्रभारी पीसी चाको की मौजूदगी में अलका लांबा ने कांग्रेस का दामन थामा है।

आप सुप्रीमो और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को आज बड़ा झटका लगा है। दिल्ली के चांदनी चौक से विधायक अलका लांबा ने शुक्रवार को आम आदमी पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया।

आम आदमी पार्टी की विधायक अलका लांबा मंगलवार को कांग्रेस की अंतिरम अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिलने पहुंची। पिछले कुछ दिनों से आप और अरविंद केजरीवाल के खिलाफ ट्वीट के जरिए हमलावर हो रही हैं अलका लांबा।

जहां कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अपनी ही पार्टी के बड़े नेताओं पर बरस पड़े हैं वहीं आम आदमी पार्टी के एक व्हाट्सऐप ग्रुप से अलका लांबा को बाहर का रास्ता दिखा दिया गया है।

आम आदमी पार्टी (आप) विधायक और प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने पार्टी की साथी विधायक अलका लांबा को ट्विटर पर कांग्रेस में शामिल होने की चुनौती दी है। कांग्रेस द्वारा मंगलवार को जारी किए गए घोषणापत्र पर चांदनी चौक से विधायक अलका लांबा के प्रतिक्रिया देने के बाद ट्विटर पर दोनों विधायकों के बीच यह जंग शुरू हुई।

दिल्ली में चांदनी चौक की विधायक अलका लांबा ने कहा है कि आम आदमी पार्टी (आप) के साथ उनकी नाराजगी खत्म हो चुकी है। आप से नाराज चल रहीं अलका लांबा को सब ठीक करने का आश्वासन दिया गया। बागी तेवर के बाद आप ने उन्हें पार्टी के सोशल मीडिया समूह से हटा दिया था।

अलका लाम्बा कहती हैं कि आम आदमी पार्टी की हालत ऐसी हो गई है कि केजरीवाल के आगे कोई भी अपनी राय नहीं रख सकता।

अलका लांबा कांग्रेस में बिताए अपने 20 सालों के समय को याद दिलाकर कांग्रेस आलाकमान को इशारा करना चाहती हैं कि अगर कांग्रेस की तरफ से उन्हें टिकट का प्रस्ताव दिया जाता है तो वो मना नहीं करेंगी।

नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी में एक बार फिर घमासान छिड़ गया है। दिल्ली विधानसभा में राजीव गांधी के भारत...