असम

राष्ट्रपति भवन द्वारा जारी एक बयान में कहा गया है कि असम, बिहार और उत्तर प्रदेश के बाढ़ प्रभावित लोगों तक दिल्ली से संबंधित राज्यों की ट्रेनों के जरिए राज्य की रेडक्रॉस शाखाओं तक समाग्री पहुंचाई जाएगी और संबंधित राज्यों की रेडक्रॉस शाखा प्रभावित लोगों तक सामग्री पहुंचाएगी।

असम में बाढ़ का कहर जारी है। इस आपदा का रूप वहां और विकराल होता जा रहा है। इस आपदा से मरने वालों की संख्या 123 हो गई है।

असम में कुदरत का कहर जारी है। एक तरफ देश कोरोना महामारी से जूझ रहा है वहीं असम में प्राकतिक आपदा ने लोगों की जान ले ली और कई के घर उजाड़ दिए।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को कोरोनावायरस के रोकथाम के उपायों एवं उपचार और बाढ़ से संबंधित पहलुओं पर रविवार को कई राज्यों के मुख्यमंत्रियों से फोन पर बातचीत की।

एक तरफ देश कोरोना जैसी घातक महामारी से जूझ रहा है। वहीं प्राकृतिक आपदा भी थमने का नाम नहीं ले रही। ऐसे में तेज बारिश से देश के कई राज्यों में बाढ़ के हालत बन गए है और कई राज्यों में बाढ़ आ गई है।

देश में गुरुवार को एक के बाद एक तीन राज्यों में भूकंप के झटके महसूस किए गए है। जानकारी के अनुसार हिमाचल प्रदेश के बाद अब गुजरात और असम में भूकंप आया है।

देश में मॉनसून ने दस्तक दे दी है। इसी के साथ कई राज्यों में तेज बारिश हो रही है जो किसी के लिए खुशियों का कारण बन रहा है तो किसी के लिए परेशानी का सबब बन रहा है। ऐसे में असम में बाढ़ का कहर भी जारी है। जिससे अबतक 18 लोगों के मौत हो चुकी है।

दास ने आईएएनएस को बताया, "बंदरों के पोस्टमार्टम के दौरान उनमें विषाक्त पदार्थ (जहर) पाया गया। आगे की जांच के लिए अब हम मृत बंदरों के नमूने खानापारा (गुवाहाटी) स्थित पशु चिकित्सा विभाग की डिसीज डायग्नोस्टिक लेबोरेटरी में भेजेंगे।"

दिल्ली एयरपोर्ट से भी 82 के करीब उड़ानों के कैंसिल होने की सूचना मिली। इसमें से अलग-अलग राज्यों के लिए उड़ाने कैंसिल की गईं। पंजाब के फगवाड़ा में स्थित लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी के 32 बच्चे भी इसी वजह से एयरपोर्ट पर फंस गए।

असम सरकार ने केंद्र सरकार को चिट्ठी लिखी है जिसमें लॉकडाउन बढ़ाने की मांग की गई है। असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने शुक्रवार को कहा कि 'हमने केंद्र सरकार को लॉकडाउन जारी रखने के लिए लिखित में अपने सुझाव भेजे हैं।