अहमद पटेल

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने गुजरात स्थित स्टर्लिग बायोटेक और संदेसरा बंधुओं द्वारा करोड़ों रुपये की बैंक धोखाधड़ी मामले में गुरुवार सुबह वरिष्ठ कांग्रेस नेता अहमद पटेल से उनके आधिकारिक आवास पर चौथे दौर की पूछताछ की।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के करीबी सहयोगी अहमद पटेल से तीन दिन पहले प्रवर्तन निदेशालय ने पूछताछ की थी, अब मंगलवार को एक बार फिर एजेंसी की टीम गुजरात स्थित स्टर्लिग बायोटेक द्वारा किए गए कथित करोड़ों रुपये के धोखाधड़ी मामले में पूछताछ के लिए उनके आवास पहुंची।

पटेल ने ट्वीट कर कहा, "दिल्ली हाईकोर्ट ने हाल ही में प्रासंगिक सवाल उठाया कि आईसीएमआर एंटीबॉडी टेस्ट किट 600 रुपये प्रति पीस क्यों खरीद रहा था, जिसे 245 रुपये में आयात किया गया था?"

कांग्रेस महासचिव और पूर्व केंद्रीय मंत्री मुकुल वासनिक ने 60 वर्ष की आयु में अपनी पुरानी दोस्त रवीना खुराना से पांच सितारा होटल में आयोजित एक निजी समारोह में विवाह कर लिया। कार्यक्रम में पार्टी के कई वरिष्ठ नेता मौजूद रहे।

पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की आज 75वीं जयंती है। इस अवसर पर पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, पूर्व उप राष्ट्रपति हामिद अंसारी, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, कांग्रेस नेता राहुल गांधी, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी, गुलाम नबी आजाद, अहमद पटेल समेत कई कांग्रेस नेताओं ने उन्हें श्रद्धांजलि दी।

ईडी स्टर्लिंग बायोटेक लोन फ्रॉड की जांच कर रहा है। ये जांच 8 हज़ार करोड़ रुपए के लोन घपले की है। इरफान सिद्दीकी पर इस कम्पनी के प्रमोटर्स के साथ संदिग्ध लेनदेन का आरोप है।

पार्टी सूत्रों ने यहां सोमवार को यह संभावना प्रकट की। सूत्रों ने कहा कि वरिष्ठ नेता पटेल को पार्टी के व्यापक हित में यह जिम्मेदारी सौंपी जा सकती है।

ईवीएम-वीवीपीएटी के मुद्दों पर कांग्रेस और 21 अन्य विपक्षी दलों की मंगलवार को हुई बैठक में गठबंधन को लेकर कोई कारगर कदम उठाने पर बात नहीं हुई, हालांकि उन्होंने ये जरूर कहा कि 23 मई को चुनाव परिणाम आने के बाद इस सन्दर्भ में ठोस कदम उठाया जाएगा। बता दें कि विपक्ष की बैठक कांस्टीट्यूशन क्लब में उस वक्त हुई, जब ज्यादातर एक्जिट पोल्स में एनडीए को बहुमत का अनुमान लगाया गया है।

अहमद पटेल ने एक चुनावी रैली के दौरान हार्दिक पटेल पर शुक्रवार को हुए हमले का जिक्र करते हुए कहा कि इससे ऐसा लगता है कि भाजपा हार को लेकर डरी हुई है।

लोकसभा चुनाव को देखते हुए इस छापेमारी के बाद से कांग्रेस नेताओं का जवाब देना मुश्किल हो गया है। इससे पहले मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के करीबी के घर पर हुई छापेमारी ने कांग्रेस को बैकफुट पर ला दिया है।