आत्मनिर्भर भारत

Gujarat: विजय रूपाणी (Vijay Rupani) ने बताया कि राज्य सरकार द्वारा सिरेमिक उद्योगों के लिए सीएनजी गैस की कीमत में रु 4 की कमी की गई है।

पिछले महीने भारत की आर्थक गतिविधियों में काफी तेजी आई है। निर्यात में लगभग 98% की वापसी हो गई जबकि आयात में 74% तक की वापसी हो गई है। विकास के कई मूल सूचक जैसे PMI data, GST mop-up, टोल चार्ज, बिजली खपत में काफी ईजाफा हुआ है।

Micromax: भारतीय स्मार्टफोन कंपनी माइक्रोमैक्स (Micromax) ने अपने ''स्मार्टफोन इन'' (Smartphone In) रेंज के साथ भारतीय बाजार में वापसी की घोषणा की है। कंपनी के सह-संस्थापक राहुल शर्मा (Co-founder Rahul Sharma) ने ट्विटर पर एक वीडियो (Video on Twitter) जारी किया है।

IMF lauds PM Modi’s call for Aatmanirbhar Bharat:कोरोनावायरस (Coronavirus) महासंकट के चलते देश की अर्थव्यवस्था को भारी नुकसान उठाना पड़ा है। वहीं दूसरी ओर अर्थव्यवस्था को फिर से पटरी पर लाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने आत्मनिर्भर भारत (Aatmanirbhar Bharat) के तहत आर्थिक पैकेज का ऐलान किया था।

Make In India: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के आत्मनिर्भर भारत (Aatm Nirbhar Bharat) के सपने को वास्तविकता में परिवर्तित करने के लिए उत्तर प्रदेश की योगी सरकार (Yogi Government) निरंतर प्रयास में जुटी हुई है।

Yogi Adityanath Government: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने शनिवार को लखनऊ स्थित आवास पर देवीपाटन मंडल (Devipatan Mandal) और उसमें शामिल जिलों बलरामपुर, गोंडा, श्रावस्ती और बहराइच की समीक्षा कर रहे थे।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने आज वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से आगरा (Agra) मंडल के विकास कार्यों की समीक्षा की।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) कोरोनावायरस (Coronavirus) के प्रसार के बाद उपजे हालात को लेकर देश के लोगों से लगातार इस बात की गुहार लगाते रहे हैं कि वह लोकल को लेकर वोकल (Vocal for Local) बनें और साथ ही आत्मनिर्भर भारत (Atamnirbhar Bharat) की तरफ देस अपना कदम बढ़ाए।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने शनिवार को भारतीय खिलौने के विनिर्माण और वैश्विक छाप को बढ़ावा देने के तरीकों पर चर्चा करने के लिए वरिष्ठ मंत्रियों और अधिकारियों के साथ बैठक की।

इसके साथ ही 'मेक इन इंडिया' (Make in India) के तहत बने 22,000 से अधिक वेंटिलेटर्स (Ventilators) भी उपलब्ध कराए गए हैं। महामारी से लड़ने और प्रभावी ढंग से इसका प्रबंधन करने के लिए केंद्र स्वास्थ्य ढांचे को मजबूत कर रहा है।