आरएसएस

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस)(RSS) के सरसंघचालक मोहन भागवत(Mohan bhagwat) ने पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी(Pranab Mukharjee) के निधन पर शोक प्रकट किया और उन्हें ‘एक महान विद्वान और देशभक्त’ बताया।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) ने भी पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी (Former President Pranab Mukherjee) के निधन पर शोक जताया है। आरएसएस ने उन्हें अपना मार्गदर्शक बताते हुए निधन को संगठन के लिए अपूरणीय क्षति बताया है।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के मुखपत्र 'पांचजन्य' ने बॉलीवुड अभिनेता आमिर खान (Aamir Khan) की चीनी स्मार्टफोन निर्माता कंपनी वीवो का ब्रांड एंबेसडर बनाए जाने और हाल ही में तुर्की यात्रा (Turkey trip) को लेकर उनकी खूब खिंचाई की है।

राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के इन आरोपों का जवाब दिया कानून मंत्री (Law Minister) रविशंकर प्रसाद (Ravishankar Prasad) ने। रविशंकर प्रसाद ने लिखा, "ऐसे लोग जो अपने ही पार्टी के लोगों पर कोई प्रभाव नहीं डाल पाते, कह रहे हैं कि पूरी दुनिया बीजेपी और RSS के कंट्रोल में है।

पिछले एक वर्ष के भीतर यह चौथा बड़ा मौका है, जब आरएसएस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व की खुलकर तारीफ की है। अब राम मंदिर निर्माण की घड़ी करीब आने पर आरएसएस के सरकार्यवाह (महासचिव) सुरेश भैय्याजी जोशी के आए ताजा बयान से संकेत निकल रहे हैं।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) से जुड़कर आर्थिक क्षेत्र में काम करने वाले संगठन स्वदेशी जागरण मंच ने स्वदेशी और स्वावलंबी भारत के समर्थन में इन दिनों डिजिटल हस्ताक्षर अभियान शुरू किया है। इस अभियान को स्वदेशी स्वावलंबन अभियान नाम दिया गया है।

संघ के निर्देशों के मुताबिक इस अभियान में वही लोग जुड़ सकते है जिनकी उम्र 20 से 45 साल की हो। उन्हें मधुमेह, उच्च रक्तचाप, दमा आदि जैसी कोई बीमारी नहीं होनी चाहिए।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) ने कहा कि वे आशा करते हैं कि वैश्विक महामारी कोरोनावायरस के खत्म होने के बाद इसकी उत्पत्ति को लेकर जांच की जाएगी।

लाभार्थियों में से एक अलीगढ़ के रहने वाले अशोक कहते हैं, "उनके पिता लॉकडाउन की वजह से दिल्ली से अलीगढ़ नहीं आ पा रहे हैं। वह सुबह शाम भोजन करते हैं। लगभग एक हजार लोग भोजन करते हैं और यह बहुत स्वादिष्ट होता है।"

सह प्रचार प्रमुख ने बताया कि इन राहत शिविरों से प्रतिदिन लगभग एक हजार पैकेट राहत सामग्री जरूरतमंदों को उनके स्थान पर दी जा रही है। दोनों राहत शिविरों के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी किए गए हैं।