आरएसएस

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) से जुड़कर आर्थिक क्षेत्र में काम करने वाले संगठन स्वदेशी जागरण मंच ने स्वदेशी और स्वावलंबी भारत के समर्थन में इन दिनों डिजिटल हस्ताक्षर अभियान शुरू किया है। इस अभियान को स्वदेशी स्वावलंबन अभियान नाम दिया गया है।

संघ के निर्देशों के मुताबिक इस अभियान में वही लोग जुड़ सकते है जिनकी उम्र 20 से 45 साल की हो। उन्हें मधुमेह, उच्च रक्तचाप, दमा आदि जैसी कोई बीमारी नहीं होनी चाहिए।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) ने कहा कि वे आशा करते हैं कि वैश्विक महामारी कोरोनावायरस के खत्म होने के बाद इसकी उत्पत्ति को लेकर जांच की जाएगी।

लाभार्थियों में से एक अलीगढ़ के रहने वाले अशोक कहते हैं, "उनके पिता लॉकडाउन की वजह से दिल्ली से अलीगढ़ नहीं आ पा रहे हैं। वह सुबह शाम भोजन करते हैं। लगभग एक हजार लोग भोजन करते हैं और यह बहुत स्वादिष्ट होता है।"

सह प्रचार प्रमुख ने बताया कि इन राहत शिविरों से प्रतिदिन लगभग एक हजार पैकेट राहत सामग्री जरूरतमंदों को उनके स्थान पर दी जा रही है। दोनों राहत शिविरों के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी किए गए हैं।

भैया जी जोशी के मुताबिक अभी देशभर में कोरोना का प्रकोप है। प्रशासनिक अनुरोध के अनुसार अभी सभी को इसकी रोकथाम में लगना है, लिहाजा प्रतिनिधि सभा की बैठक फिलहाल रद्द की जाती है।

पिछले साल महाराष्ट्र में हुए विधानसभा चुनाव में भाजपा और शिवसेना वाले गठबंधन को पूर्ण बहुमत मिला था, लेकिन इसके बावजूद भाजपा सरकार नहीं बना सकी थी।

लालू परिवार से जुड़ा हुआ यह नया विवाद है। तेज प्रताप के खासम खास रहे अभिनंदन कुमार ने बिहार के नेता प्रतिपक्ष और लालू प्रसाद यादव के छोटे बेटे तेजस्वी यादव के खिलाफ पटना एसएसपी को लिखित शिकायत की है।

प्रियंका ने कहा, "यूपी सरकार भी आरक्षण नीति का मखौल उड़ाती है और यह भाजपा और आरएसएस का एक डिजाइन है। वे पहले एससी/एसटी कानून को कमजोर बनाते हैं और फिर वे संविधान में दिए गए समानता के सिद्धांत के खिलाफ जाते हैं।"

परमेश्वरन का जन्म 1927 में अलप्पुझा जिले के मुहम्मा में हुआ था। वह आरएसएस के साथ तभी जुड़ गए थे, जब वह छात्र थे। परमेश्वरन ने आपातकाल के दौरान इसके खिलाफ सत्याग्रह में भाग लिया था।