आर्टिकल 15

साल 2019 अभिनेता आयुष्मान खुराना के लिए काफी खास रहा क्योंकि इस साल उन्होंने 'आर्टिकल 15', 'ड्रीम गर्ल' और 'बाला' एक के बाद एक लगातार तीन हिट फिल्में दीं।

अभिनेता आयुष्मान खुराना के मुताबिक, "मैंने हमेशा अपनी कहानी के माध्यम से समाज में मुद्दों को उठाने में यकीन रखा है क्योंकि भारत में लोगों पर बॉलीवुड का गहरा प्रभाव है।"

अनुभव सिन्हा द्वारा निर्देशित 'आर्टिकल 15' का मुख्य उद्देश्य लोगों को संविधान के अनुच्छेद 15 के बारे में बताना है, जो धर्म, जाति, लिंग या जन्म स्थान के आधार पर किसी भी तरह के भेदभाव को रोकता है और किस तरह इसके महत्व को लोग भूल चुके हैं। 

'आर्टिकल 15' भारतीय संविधान के अनुच्छेद 15 पर आधारित है। इस इन्वेस्टिगेटिव थ्रिलर फिल्म में आयुष्मान खुराना एक पुलिस अधिकारी के किरदार में हैं, जिसमें सयानी गुप्ता, कुमुद मिश्रा, ईशा तलवार और मनोज पाहवा प्रमुख भूमिकाओं में हैं।

शुद्ध मनोरंजन फिल्मों को लोग कम तवज्जो देते हैं और जिन फिल्मों की अपनी सशक्त आवाज होती है लोगों से उन्हें ज्यादा इज्जत मिलती है। यह एक सच्चाई है।"

बता दें कि फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर शानदार कमाई की है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, फिल्म का फर्स्ट डे कलेक्शन 4 से 5 करोड़ तक चला गया है। इस फिल्म का बजट लगभग 18 करोड़ बताया जा रहा है। उस लिहाज से 5 करोड़ फर्स्ट डे कलेक्शन एक शानदार कलेक्शन माना जाएगा।

आर्टिकल 15 को आधार बनाकर बनाई गई ये बेहद प्रभावशाली फिल्म ऐसे कई सवालों से आपके मन को बैचेन कर देगी और यही बैचेनी फिल्म की सबसे बड़ी कामयाबी के रूप में सामने आती है।आयुष्मान खुराना पुलिस वाले के रोल में बेहद जंचते ही नहीं, बल्कि अपना प्रभाव भी छोड़ जाते हैं।

130.37 मिनट लंबी इस फिल्म में ईशा तलवार, एम नास्सर, मनोज पहवा, सयानी गुप्ता, कुमुद मिश्रा और मुहम्मद जीशान अयूब भी शामिल हैं। बनारस मीडिया वर्क्‍स और जी स्टूडियोज ने मिलकर इसे प्रोड्यूस किया है।

अभिनेत्री 'कहब तो' गाने को अपनी आवाज देंगी। सयानी ने कहा, "मैं हमेशा से अपनी फिल्मों में गाने गाना चाहती थी। यह एक सपने के पूरे होने जैसा है।"

इस फिल्म की कहानी को मरोड़कर दिखाए जाने के बात पर फिल्म के निर्देशक अनुभव सिन्हा को उत्तर प्रदेश में ब्राह्मण समुदाय के गुस्से का सामना करना पड़ा।