आर्टिकल 370

अनुच्छेद 370 के हटने के बाद बिहार के रहने वाले आईएएस अफसर जम्मू-कश्मीर के स्थायी निवासी बने हैं। आईएएस अफसर नवीन चौधरी वर्तमान में जम्मू शहर में रहते हैं। वो दूसरे राज्य से आने वाले ऐसे पहले नौकरशाह हैं, जिन्हें राज्य का स्थायी निवासी बनाया गया है।

कुलपति ने बताया, "वायरस क्या है? कोरोना का प्रकोप महामारी का भौगोलिक स्वरूप क्या है, इससे निपटने के लिए सरकार क्या प्रयास कर रहे हैं? आगे चलकर ऐसी परिस्थिति आती है तो इससे कैसे निपटा जाए। इन सभी बातों का उल्लेख करके एक पाठ्यक्रम बनाया गया है। इसे जागरूकता का नाम दिया गया है।"

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी के एक दिन के प्रवास पर पहुंचे हैं और यहां उन्होंने अपनी संसदीय क्षेत्र की जनता को हजारों करोड़ रुपए की सौगात दी।

राष्ट्रपति कोविंद ने अपने अभिभाषण में आर्टिकल 370, तीन तलाक, नागरिकता कानून, राम जन्मभूमि,  श्यामा प्रसाद मुखर्जी, रेल नेटवर्क और जल मंत्रालय का भी जिक्र किया। बता दें कि मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहला बजट 1 फरवरी को केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण पेश करेंगी। 

सेना प्रमुख ने पाकिस्तान का बिना नाम लिए बिना कहा कि सेना आतंक के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की नीति पर चलती है और इसका जवाब देने के लिए भारतीय सेना के पास कई विकल्प हैं। साथ ही उन्होंने सेना के भविष्य के प्लान्स भी साझा किए।

PDP अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती आर्टिकल 370 हटने के बाद 5 अगस्त से कस्टडी में रखी गई हैं। अंद्राबी ने कहा है कि अगर पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने उपराज्यपाल और विदेशी प्रतिनिधि मंडल से मुलाकात करके कोई गुनाह नहीं किया है।

गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि पूरे चुनाव प्रचार ने उन्हें सीएम उम्मीदवार के रूप में प्रचारित किया, और किसी ने कभी इस पर सवाल नहीं उठाया। हमने लगभग 70% सीटें जीतीं, जिस पर हम लड़े, और शिवसेना ने 42% सीटों पर जीत हासिल की।

जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 खत्म होने के बाद ईडी की इस पहली कार्रवाई के दौरान घाटी में शांति के हालात नज़र आए। ईडी की टीम ने सात प्रॉपर्टीज का मौके पर पहुंचकर पजेशन लिया।

अक्सर अपने बयानों के कारण सुर्खियों में छाए रहने वाले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने अब अपने पार्टी के नेताओं के खिलाफ ही मोर्चा खोल दिया है। उनके निशाने पर आधे से ज्यादा कांग्रेसी हैं, जिनके बारे में उन्होंने कहा है कि वे नहीं जानते की आर्टिकल-370 है क्या?

राम माधव ने कहा कि पिछले दो महीने में कश्मीर में हिसा की घटनाएं नहीं के बराबर हुई हैं। उन्होंने चेतावनी वाले लहजे में कहा कि 'जो भी रुकावटें पैदा करेंगे, उनके साथ सख्ती से निपटा जाएगा। ऐसे लोगों के लिए भारत में अनेकों जेल हैं। '