इकबाल अंसारी

कुछ दिन पहले खबर सामने आई थी कि मस्जिद के लिए जो जमीन मिली है उसपर जो निर्माण होगा वो बाबर के नाम से होगा। इसी को लेकर इकबाल अंसारी( Iqbal Ansari) ने साफ कर दिया है कि बाबर(Babar) से हमारा कोई संबंध नहीं है और ना ही उसके नाम से कोई निर्माण होगा।

उन्होंने कहा कि सभी निमंत्रण प्राप्त करने वालों को भूमि पूजन प्रांगण में सुबह 10:30 बजे तक आ जाना अनिवार्य है। इसके बाद किसी को भी किसी भी कीमत पर प्रवेश नहीं दिया जाएगा। सभी को प्रधानमंत्री के आगमन के दो घंटे पहले तक पहुंचना होगा।

राम जन्म भूमि भूजन कार्यक्रम को लेकर रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने सोमवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की।

ज्ञात हो कि श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास की तरफ से भेजे गए इस आमंत्रण पत्र में लिखा है श्रीराम जन्मभूमि मंदिर का भूमिपूजन और कार्यारम्भ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कर कमलों के द्वारा होगा।

अंसारी ने कहा कि प्रधानमंत्री ओली को तो अपने धर्म के बारे में जानकारी नहीं है। नेपाल में हिंदू विरोधी कार्य किया जाता है। वहीं नेपाल के प्रधानमंत्री अयोध्या के बारे में नहीं जानते, न ही वह अयोध्या कभी घूमे हैं।

बाबरी मस्जिद के पक्षकार रहे मोहम्मद इकबाल अंसारी ने सरकार से सीबीआई की विशेष अदालत में चल रहे बाबरी मस्जिद विध्वंस केस को खत्म करने की मांग की है। 

बाबरी मस्जिद पक्षकार रहे इकबाल अंसारी ने तबलीगी जमात पर देशद्रोह का मुकदमा दर्ज करने की मांग की है।

अयोध्या में दीपोत्सव के भव्य आयोजन को लेकर बाबरी मस्जिद के पक्षकार इकबाल अंसारी काफी खुश हैं। इसको लेकर उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तारीफ की है।

इकबाल अंसारी ने कहा कि वह खुश हैं कि मामला अब अपने तार्किक अंजाम तक पहुंच रहा है।अंसारी के पिता हाशिम अंसारी बाबरी मस्जिद मामले में सबसे पुराने वादी थे।

इकबाल अंसारी ने राहुल गांधी और कांग्रेस से पूछा है कि देश में कई जगह मसले हैं, राहुल गांधी वहां क्यों नहीं जाते हैं। राहुल गांधी पाक अधिकृत कश्मीर जो भारत का अंग है, वहां जाकर राजनीति क्यों नहीं करते हैं ?