इजरायल

दोनों देश एक दूसरे देशों में अब अपना दूतावास भी खोलेंगे। अमेरिकी राष्ट्रपति(Donald Trump) द्वारा साझा किए गए संयुक्त बयान के अनुसार, इजरायल(Israel) के पीएम बेंजामिन नेतन्याहू और आबू धाबी(Abu Dhabi) के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन जाएद दोनों देशों के बीच संबंधों को सामान्य करने को लेकर राजी हो गए हैं।

देश में कोरोना संक्रमण के मौजूदा हालात को देखते हुए जल्‍द ही इस किट का निर्माण भारत में शुरू किया जाएगा। इस किट की टेक्‍नोलॉजी इजराइल की होगी और इसका निर्माण भारत में किया जाएगा।

इस ट्वीट में इजरायली दूतावास ने अपने ट्वीटर हैंडल से बधाई देते हुए लिखा है- हैप्पी फ्रेंडशिप डे 2020 इंडिया।

तैयार की जा रही किट को लेकर भारत में इजरायल के राजदूत रोन मलका ने कहा कि अगर जांच किट विकसित हो जाती है तो यह चंद सेकंड में रिपोर्ट दे देगी और यह कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकती है।

उन्‍होंने कहा कि नोवेल कोरोनावायरस इसलिए खतरनाक है क्योंकि इसके कारण फेफड़ों में वसा का जमाव हो जाता है, जिसे दूर करने में फेनोफाइब्रेट मददगार है।

अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के आकस्मिक निधन पर दुनियाभर में उनके प्रशंसक शोक व्यक्त कर रहे हैं। अब इजरायल के विदेश मंत्रालय ने उन्हें लेकर अपना दुख व्यक्त किया है।

पूर्वी लद्दाख स्थित गलवान घाटी में भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच हुई हिंसक झड़प के बाद दोनों देशों में तनाव का माहौल बना हुआ है। बता दें कि भारत और चीन की सेनाओं के बीच 45 साल में पहली बार सीमा पर हिंसक झड़प हुई। जिसके बाद सीमा पर तनाव कापी बढ़ गया है।

इजरायल में कोरोनावायरस महामारी के 23 नए मामले सामने आने के बाद यहां कोविड-19 संक्रमण की चपेट में आए लोगों का आंकड़ा बढ़कर 16 हजार 757 हो गया है। हेल्थ मिनिस्ट्री ने इस बात की जानकारी दी है।

2019 में डेढ़ महीने तक चले आम चुनाव में थकान भरी कवायद के बाद परिणाम आने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी केदारनाथ पहुंचे थे और उन्होंने भगवान शिव का रूद्राभिषेक कर उनकी आराधना की थी।

2019 में आम चुनाव से ठीक पहले देश के लगभग हर मंच पर विपक्षी एकता साफ नजर आ रही थी। इन विपक्षी दलों का सिर्फ और सिर्फ एक मकसद था किसी तरह नरेंद्र मोदी सरकार को सत्ता में दोबारा लौटने से रोकना।