उत्तर कोरिया

इससे पहले किम जोंग उन की बहन ने चेतावनी दी थी कि अगर दक्षिण कोरिया ने उत्‍तर कोरियाई विद्रोहियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं की तो उनका देश संबंध तोड़ लेगा।

किम जोंग-उन का जनता की नजरों से ओझल होना दुर्लभ नहीं है। सार्वजनिक दृश्य से उनकी सबसे लंबी अनुपस्थिति सितंबर 2014 में थी, जब वह एक 40 दिनों के लिए गायब हो गए और बाद में वे जब आए तो लंगड़ा कर चल रहे थे।

पिछले हफ्ते सीएनएन की रिपोर्ट के बाद इस बारे में अटकलें बढ़ गईं, जिसमें एक अमेरिकी अधिकारी का हवाला देते हुए कहा गया कि वॉशिंगटन ने खुफिया जानकारी में पाया कि किम जोंग-उन एक सर्जरी के बाद 'गंभीर खतरे' में थे।

किम जोंग उन को लेकर कई खबरें विश्व भर के मीडिया में बड़ी सुर्खियां बनी हुई हैं। किम जोंग उन की तबियत को लेकर कई सच और कई झूठ फैल रहे हैं।

हालांकि ट्रम्प ने यह कहने से इनकार कर दिया कि उन्हें किम के स्वास्थ्य के बारे में प्रत्यक्ष जानकारी है। उन्‍होंने कहा कि वह केवल समाचार रिपोर्टों से मिली जानकारी ही जानते हैं।

इससे पहले, रविवार को दक्षिण कोरिया की सेना ने कहा था कि उत्तर कोरिया ने छोटी दूरी की दो बैलिस्टिक मिसाइलों का परीक्षण किया है। सियोल स्थित समाचार एजेंसी योनहप के मुताबिक, दक्षिण कोरियाई सेना ने रविवार को कहा था कि ये मिसाइलें वॉनसान शहर से दागी गई थीं।

 उत्तर कोरिया ने शनिवार को छोटी दूरी की दो बैलिस्टिक मिसाइलों को उत्तर प्योंगन प्रांत से पूर्वी सागर में दागा है। समाचार एजेंसी योनहाप दक्षिण कोरिया के 'ज्वाइंट चीफ ऑफ स्टाफ' के हवाले से यह जानकारी दी।

उत्तर कोरिया के शीर्ष नेता किम जोंग उन ने लंबी दूरी की तोपों के फायरिंग अभ्यास का निरीक्षण किया। सरकारी मीडिया ने यह जानकारी दी। इससे एक दिन पहले दक्षिण कोरिया ने कहा था कि प्योंगयांग ने जो परीक्षण किए हैं, वे दो बैलिस्टिक मिसाइलें प्रतीत होती हैं।

उत्तर कोरिया ने सोमवार को पूर्वी सागर में दो अज्ञात मिसाइल(प्रोजेक्टाइल) दागी। दक्षिण कोरिया के ज्वाइंट चीफ ऑफ स्टाफ (जेसीएस) ने कहा कि उत्तर कोरिया की ओर से इस साल की शुरुआत में 'नए रणनीतिक हथियार' की चेतावनी के बाद इस तरह का यह पहला प्रक्षेपण रहा।

कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए जहां पूरी दुनिया इसका इलाज ढूंढने में व्यस्त है वहीं उत्तर कोरिया में वायरस से संक्रमण के डर से पीड़ितों पर ही जुल्म ढाया जा रहा है।