उत्तर प्रदेश

Uttar Pradesh: उन्होंने कहा कि हम एक्सप्रेस वे, नेशनल हाइवे का जाल बिछा रहे हैं। एयर कनेक्टिविटी पर युद्ध स्तर पर काम हो रहा है। राज्यों और देश की सीमाओं को जोड़ने वाली बदहाल सड़कों का कायाकल्प हो चुका है। बुनियादी संरचना मजबूत और बेहतर होने के साथ रोजगार के अवसर और बढ़ेंगे।

Uttar Pradesh: मुख्यमंत्री, गुरुवार को जोनल पुलिस महानिदेशकों के साथ प्रदेश की कानून-व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे। अपर मुख्य सचिव गृह, पुलिस महानिदेशक और एडीजी कानून-व्यवस्था की मौजूदगी में मुख्यमंत्री ने सभी जोनल एडीजी को साफ तौर पर निर्देशित किया कि वह थाना और सर्किल स्तर की गतिविधियों पर स्वयं नजर रखें।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने कहा है कि वर्तमान राज्य सरकार की योजनाएं भेदभाव नहीं करती। जरूरतमंद कोई भी हो, किसी वर्ग का हो, किसी विचारधारा का हो, सरकार उसकी उन्नति के लिए काम कर रही है।

UP: यूपी (UP) में स्‍वास्‍थ्‍य सेवाएं काफी सस्‍ती है। इसलिए यहां हेल्थ टूरिज्‍म तेजी से बढ़ रहा है। इससे निवेश के साथ रोजगार के अवसर भी उपलब्‍ध हो रहे हैं। यह विचार मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ (Yogi Adityanath) ने अपोलोमेडिक्स (Apolomedics) में लीवर ट्रांसप्‍लांट की सुविधा के शुभारंभ के मौके पर व्‍यक्‍त किए।

Tandav Controversy: अपर्णा पुरोहित द्वारा भारतीय दंड संहिता की धारा 153 (ए)(1)(बी), 295-ए, 505 (1) (बी) 505 (2) और सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम की धारा 66 और 67 व एससी/एसटी एक्ट की धारा 3(1)(आर) के तहत अग्रिम जमानत की याचिका दायर की गई थी।

Uttar Pradesh: गुरुवार को उत्तर प्रदेश एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण के अधिकारियों और संबंधित मंडलायुक्तों व जिलाधिकारियों के साथ परियोजना की प्रगति की समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री ने गंगा एक्सप्रेस-वे निर्माण को मिशन मोड में करने की जरूरत बताई है।

UP: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने विधान सभा में राज्यपाल द्वारा समवेत सदनों में दिए गए अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव के समर्थन में बोलते हुए कहा कि लोकतंत्र की सबसे बड़ी ताकत संवाद है।

Mukhtar Ansari : बुधवार को विधानसभा में मुख्यमंत्री योगी ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि, "यूपी में अपराधियों और माफियों के लिए अब कोई जगह नहीं है। जो माफिया पहले की सरकार में बैठ कर गौरव की अनुभूति करते थे, वही अब यूपी में अपने अस्तित्व को बचाने के लिए जूझ रहे हैं।

Uttar Pradesh: सरकार प्रदेश के अलग-अलग जिलों में आधुनिक अधिवक्‍ता चैम्‍बर बनाने के लिए 20 करोड़ रुपये की धनराशि खर्च करने जा रही है। उत्‍तर प्रदेश अधिवक्ता कल्याण निधि से संबंधित कल्याणकारी स्टाम्पों की बिक्री की शुद्ध प्राप्ति की धनराशि अधिवक्ता कल्याण निधि हेतु न्यासी समिति को अन्तरण के लिये 20 करोड़ रूपये की व्यवस्था भी सरकार ने बजट में की है।

UP Budget 2021: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने भी इस फार्मूले को अपनाते हुए सूबे की तरक्की के लिए इंडस्ट्री, इन्फ्रास्ट्रक्चर और इलेक्ट्रॉनिक्स सेक्टर में बीते वर्ष से अधिक बजट आवंटित किया है। ताकि प्रदेश की तरक्की में धन की कमी बाधा ना बनने पाए।