उत्तर प्रदेश

देश में कोरोना का कहर बढ़ता जा रहा है। इस महामारी के बढ़ते मामलों के बीच उत्तर प्रदेश में संक्रमण का पता लगाने के लिए अब टेस्टिंग और तेज की जाएगी।

अमित शाह की पहल का ही नतीजा था कि दिल्ली में कोरोना का इलाज सबसे सस्ता हो पाया था। अब इसे यूपी और हरियाणा जैसे राज्यों में भी लागू कराने की अमित शाह की योजना है।

उत्तर प्रदेश पुलिस अब एक्शन मोड में है। 8 पुलिसकर्मियों के हत्यारे गैंगस्टर विकास दुबे के खात्मे के बाद यूपी पुलिस की नजर अब दूसरे ईनामी मोस्ट वांटेड अपराधियों पर है।

यूपी में कोरोनावायरस के तेज प्रसार को देखते हुए योगी सरकार ने गत शुक्रवार की रात से सोमवार सुबह 5 बजे तक 55 घंटे का लॉकडाउन लगाया है।

कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे के मद्देनजर उत्तर प्रदेश में बीती रात 10 बजे से लॉकडाउन लग गया है जो 13 जुलाई की सुबह 5 बजे तक जारी रहेगा। इस दौरान जरूरी सेवाओं को छोड़कर अन्य सभी गतिविधियों पर प्रतिबंध रहेगा।

संजय राउत का कहना है कि पुलिस के एक्शन पर प्रश्न चिन्ह नहीं लगाना चाहिए।  शिवसेना की ओर से कहा गया कि जिन गुंडों ने पुलिस की हत्या की थी, उनपर सवाल उठाना जरूरी है। विकास दुबे का एनकाउंटर लॉ एंड ऑर्डर का सवाल था, उसपर कोई प्रश्नचिन्ह ना लगाए।

वहीं कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने गैंगस्टर विकास दुबे के एनकाउंटर को लेकर भारतीय जनता पार्टी पर बिना नाम लिये निशाना साधा है।

उत्तर प्रदेश के कानपुर में 8 पुलिसकर्मियों की हत्या के मामले में मुख्य आरोपी गैंगस्टर विकास दुबे आज कानपुर में एक मुठभेड़ में मारा गया है। दो जुलाई से हुए अब तक के घटनाक्रम में पुलिस और अपराधी के बीच शह मात का खेल चलता रहा।

प्रदेश में यह लॉकडाउन कल शुक्रवार रात 10 बजे से 13 जुलाई की सुबह 5 बजे तक रहेगा और इस दौरान ज्यादातर चीजें बंद रहेंगी। हालांकि अस्पताल और अन्य जरूरी सामान की दुकानें खुलेंगी।

कांग्रेस की मध्य प्रदेश इकाई के वरिष्ठ नेता और ग्वालियर-चंबल संभाग के मीडिया प्रभारी के. के. मिश्रा ने उत्तर प्रदेश के हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे की गिरफ्तारी से पहले महाकाल थाने के प्रभारी के तबादले पर सवाल उठाया है। उन्होंने कहा है कि यह संयोग है या षड्यंत्र।