उद्धव ठाकरे

महाराष्ट्र सरकार में शिवसेना के सहयोगी दल एनसीपी ने भी प्रधानमंत्री मोदी के प्रति अपना समर्थन जताया। इसके साथ ही एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने चीन के सामने सैनिकों को निहत्थे भेजे जाने के राहुल गांधी के सवाल पर उन्हें आईना भी दिखाया।

बैठक में बीजेपी से अलग होकर महाराष्ट्र में सरकार बनाने वाले शिवसेना प्रमुख ने मोदी सरकार पर भरोसा जताया और कहा कि हमारी सरकार 'आंखें निकालकर हाथ में देने' की क्षमता रखती है।

आज के ही दिन शिवसेना की स्थापना स्वर्गीय बाला साहेब ठाकरे ने की थी। कोरोना महामारी की वजह से 54वें स्थापना दिवस को नहीं मनाने का फैसला लिया गया।

वहीं एलएसी पर हुई हिंसा और भारतीय सैनिकों की शहादत के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी चीन को कड़ा संदेश दिया। उन्होंने कहा कि हमारे जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा।

महाराष्ट्र में शिवसेना नीत महाराष्ट्र विकास आघाडी सरकार में तनाव के संकेत दिख रहे हैं, जहां गठबंधन की तीन सहयोगियों में से एक कांग्रेस, प्रमुख निर्णय लेने की प्रक्रिया और महत्वपूर्ण बैठकों में खुद को शामिल कराने का प्रयास कर रही है।

भारत में भी इस महामारी ने जहां अपना कहर सबसे ज्यादा बरपाया है वह है महाराष्ट्र। महाराष्ट्र में कोरोना से संक्रमितों का आंकड़ा 1 लाख को पार कर गया है।

देश में कोरोना का सबसे ज्यादा कहर महाराष्ट्र में देखने को मिल रहा है। राज्य ने कोरोना के मामले में चीन को पीछे छोड़ दिया है। ऐसे में एक और कैबिनेट मंत्री के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने की बात सामने आई है। इतना ही नहीं मंत्री के पांच निजी कर्मचारियों में भी संक्रमण की पुष्टि हुई है।

बॉलीवुड एक्टर सोनू सूद महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे के घर मातोश्री मिलने पहुंचे। जहां उनकी 40 मिनट तक मुलाकात हुई। शिव सेना के प्रवक्ता संजय राउत ने शनिवार को सामना पत्र में एक्टर को निशाना बनाया था। जिसके बाद सोनू सूद उद्धव ठाकरे से मिले।

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने महाराष्ट्र की उद्धव ठाकरे सरकार से एकबार फिर कल चलने वाली ट्रेनों के यात्रियों की लिस्ट मांगी है।

महाराष्‍ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने राज्‍य में घरेलू विमान सेवाएं शुरू करने के लिए नागरिक उड्डयन मंत्रालय से कुछ और समय मांगा है। साथ ही उन्‍होंने यह भी कहा है वह अभी यह भी नहीं कह सकते हैं कि 31 मई को राज्‍य में लॉकडाउन समाप्‍त कर दिया जाएगा क्‍योंकि महाराष्‍ट्र में कोरोना वायरस का संक्रमण थमने का नाम नहीं ले रहा।