एआईएमआईएम

नेटवर्क 18 के पत्रकार अमिश देवगन ने एक रिपोर्ट दर्ज कराई है जिसमें उन्होंने स्पष्ट तौर पर बताया है कि उन्हें लगातार मिडिल ईस्ट के देशों से फोन के जरिए धमकी दी जा रही है।

असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के एक और नेता भड़काऊ बयान दिया है। इस बार एआईएमआईएम विधायक मुफ्ती मोहम्मद इस्माईल ने एक जनसभा को संबोधित करते हुए आपत्तिजनक टिप्पणी की है।

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किशन रेड्डी ने मंगलवार को कहा कि कुछ तत्व अभी भी दिल्ली में हिंसा भड़काने की कोशिश कर रहे हैं। मंत्री ने संवाददाताओं से कहा, "खबरें आ रही हैं कि आज भी हिंसा पैदा करने की कोशिश की जा रही है। हम हिंसा के लिए जिम्मेदार लोगों का पता लगाने के लिए उच्च स्तरीय जांच करेंगे और लोगों के सामने सच्चाई लाएंगे।"

बता दें कि नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ एक रैली में वारिस पठान ने कहा था कि यह समय आ गया है कि हम एकजुट हो जाएं और आजादी लें। याद रखें, हम 15 करोड़ ही 100 करोड़ लोगों पर भारी पड़ सकते हैं। उनके इस बयान की सबने कड़ी आलोचना की थी।

गौरतलब है कि अमूल्या ने गुरुवार को ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम)) के अध्यक्ष और हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी की रैली में मंच पर चढ़ने के बाद माइक लेकर पाकिस्तान जिंदाबाद का नारा लगाना शुरू कर दिया था। अपने मंच से पाकिस्तान जिंदाबाद का नारा लगाए जाने की ओवैसी ने भी निंदा की थी।

अमूल्या लियोना को परप्पाना अग्रहारा की सेंट्रल जेल में रखा जाएगा। इसके साथ ही बेंगलुरू पुलिस ने नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ फ्रीडम पार्क में आयोजित रैली के आयोजकों को भी नोटिस भेजा है। उन्हें पूछताछ के लिए आज सुबह बुलाया गया।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक बड़ी भविष्यवाणी कर दी है। दिल्ली विधानसभा चुनाव प्रचार में उतरे योगी ने कहा कि जल्दी ही ओवैसी भी हनुमान चालीसा पढ़ेंगे।

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के प्रमुख और हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने रविवार को यहां कहा कि राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) और नागरिक संशोधन कानून (सीएए) लागू कर सरकार देश के अंदर फूट डालना चाहती है।

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलमीन के मुखिया और हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने नागिरकता संशोधन कानून को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है।

वसीम रिजवी ने ओवैसी की तुलना आतंकी संगठन आईएसआईएस के पूर्व सरगाना अबु बकर अल बगदादी से कर डाली। उन्होंने कहा कि आतंकी संगठन आईएसआईएस के पूर्व सरगना अबु बकर अल बगदादी और औवेसी में कोई फर्क नहीं है। औवेसी जुबान से आतंक फैला रहे हैं। दोनों एक समान हैं।