एक्सरसाइज

सर्दियों में हड्डियों को स्वस्थ रखने में अच्छी मात्रा में कसरत करने से भी फायदा मिलता है। कसरत से हड्डियों का घनत्व बना रहता है, जिससे ऑस्टियोपोरोसिस जैसी समस्याओं से बचा जा सकता है।

वजन कम करने के लिए जितना जरूरी जिम में पसीना बहाना है, उससे कहीं ज्यादा जरूरी अपने खाने-पीने की आदतों पर कंट्रोल करना है। गलत खानपान, गलत समय पर खाना और जरूरत से ज्यादा खाना आपकी सारी मेहनत पर पानी फेर सकता है।

करीब 28 ग्राम अजवाइन के रस का सेवन करें इससे गुर्दे को डिटॉक्स करने में मदद मिलेगी और आपका शरीर क्षारीय होगा और आपकी कार्यक्षमता बढ़ेगी।

शोध के दौरान जो लोग ज़्यादा दूर तक टहलते थे, उनके दिमाग के व्हाइट मैटर के ढांचों की संरचना बेहतर थी। वहीं इन लोगों में नसों की कनेक्टिविटी भी काफी अच्छी पाई गई।

आप जितना कम तनाव लेंगे आपका दिल उतना ही तंदुरुस्त रहेगा। योग करने से आपका तन और मन दोनों शांत होते हैं। तो फिर आजमाएं इन आसान टिप्स को और खुद को रखें स्वस्थ्य और खुशहाल।

नुसरत अपने दिन की शुरुआत में एक कप ग्रीन टी लेती हैं। ब्रेकफस्ट में वे हर दिन कुछ नया खाना पसंद करती हैं। ऐंटिऑक्सिडेंट्स से भरपूर बेवरीज इनकी पसंदीदा हैं। साथ ही अपनी छोटी-छोटी भूख के लिए वे कोई ना कोई मौसमी फल खाना पसंद करती हैं।

सुबह का व्यायाम चीनी और वसा को चयापचय करने के लिए मांसपेशियों की कोशिकाओं की क्षमता को बढ़ाता है और इस प्रकार के प्रभाव शोधकर्ताओं को गंभीर अधिक वजन और टाइप 2 मधुमेह वाले लोगों के संबंध में रुचि रखने में मदद करते हैं।

सबसे पहले आपका यह जानना बहुत जरुरी है की पाचनतंत्र आखिर होता क्या है। पाचन तंत्र वह क्रिया है जब हम कुछ भी खाना खाते हैं उसे सही रूप से हमारे शरीर में पहुंचाने का काम पाचन तंत्र करता है।

आजकल अधिकतर लोग वजन कम करने की जद्दोजहद में लगे हुए हैं। लेकिन कई लोगों के मन में अक्सर ये सवाल उठता है कि आखिर वजन कम करने के लिए डाइट ज्यादा जरूरी है या फिर एक्सरसाइज?